उत्तर प्रदेश

छात्रा के एक मासूम सवाल ने कर दी ASP की बोलती बंद, जाने क्यों ?

उत्तर प्रदेश में महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा को लेकर अब पुलिस वालों से भी जवाब देते नहीं बन रहा है।  ऐसा ही नजारा बारांबकी में तब दिखा जब छात्राओं ने बालिका जागरूकता कार्यक्रम में भाग लिया। इस दौरान एक छात्रा ने घबराकर जब एएसपी के सामने अपना दर्द बंया किया तो एएसपी भी चुप्पी साध गए। 

शिकायत करने से लगता है डर

जिले में बालिका जागरूकता अभियान कार्यक्रम के दौरान छात्रा ने एएसपी से कहा कि अगर वो टोल फ्री नंबर पर शिकायत करती है तो उनका भी एक्सीडेंट करा दिया जाएगा। उन्नाव पीड़िता ने भी विधायक से अपनी  लड़ाई लड़ी उसका भी एक्सीडेंट करा दिया गया। छात्रा ने जब ये सवाल एएसपी से पूछा तो वो हड़बड़ा गए और इस सवाल पर  उनसे कोई जवाब देते नहीं बना।

कैसे मांगे न्याय ?

बालिका जागरूकता कार्यक्रम बाराबंकी के आनंद भवन विद्यालय में आयोजित किया गया था। उन्नाव रेप कांड की पीड़िता के एक्सीडेंट के बाद प्रदेश की लड़कियों में डर घर कर गया है। हर लड़की को लगता है न्याय के लिए आवाज बुलंद की जाएगी तो उसे दबा दिया जाएगा , कुचल दिया जाएगा।
इसी क्रम में जब एएसपी से छात्राओं  ने  अपनी सुरक्षा को लेकर सवाल किए तो वो उन सवालों के जवाब नहीं दे पाए। बतादें कि एएसपी कार्यक्रम में छात्राओं को उनकी सुरक्षा के लिए टिप्स देने गए थे और न्याय के लिए कैसे लड़ना से ये बताने गए थे। लेकिन अब छात्राओं के गंभीर सवालों पर अधिकारियों ने चुप्पी साध ली है।
Back to top button