ख़बरदेश

मरते-मरते बोल गया वो कर्जे में लदा किसान, ‘इसके लिए गहलोत-पायलट जिम्मेदार’

खुद को किसान हितैषी बताने वाली राजस्थान सरकार के मुखिया अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट को एक किसान ने सुसाइड नोट में अपनी मौत का जिम्मेदार बताया है. राजस्थान में श्रीगंगा नगर के ठाकरी गांव में 45 वर्षीय किसान सोहनलाल मेघवाल कर्ज के बोझ तले खुदकुशी कर ली है. सुसाइड नोट में किसान ने लिखा, मेरी मौत का मुकदमा अशोक गहलोत और सचिन पायलट पर कर देना.

बता दें कि गांव ठाकरी के रहने वाले किसान ने सोमवार को जहर खाकर खुदकुशी कर ली थी. जैसे ही ग्रामवासियों को सोहनलाल के जहर खाने की सूचना मिली वैसे ही ग्रामीण दौड़े-दौड़े उसके निवास पहुंचे. उसे गम्भीर हालत में नजदीकी अस्पताल में भर्ती करवाया गया. यहां से उसे जिला अस्पताल में रैफर किया, लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया.

जहरीला पदार्थ पीने से पहले ग्रामीणों को सोशल मीडिया पर राम-राम कहा. मेघवाल ने सुसाइड नोट में लिखा उस पर तीन लाख का कर्ज था, जिसके कारण सिंडिकेट व ओबीसी बैंक उस पर दबाव बना रहे थे. उसने लिखा कि इस मौत के जिम्मेदार अशोक गहलोत व सचिन पायलट हैं.

किसान ने अपने सुसाइड नोट में लिखा सरकार ने गहलोत जी ने वायदा किया था कि सरकार आई तो दस दिन में आपका कर्जा माफ कर देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. मेरी मौत का मुकदमा अशोक गहलोत पर कर देना. मैं किसान भाइयों के लिए मरने जा रहा हूं.

 

Back to top button