Top News
कोरोना वायरस भारत के लिए भी बड़ी मुसीबत, सबसे पहले…असहाय पर भी नहीं वर्दी का जोर दिखाया ये पुलिसवाला,…दिल्ली चुनाव से पहले भाजपाई हुईं बैडमिंटन की स्टार खिलाड़ी…शाहरुख़ खान की बहन नूर जहां का हुआ निधन, इस…मिताली राज की बायोपिक से सामने आई तापसी की पहली…लवर के साथ पति बनकर होटल में सैजी खांन ने…निर्भया के दोषी मुकेश की फांसी का रास्‍ता साफ, SC ने…निर्भया केस: अगर 60 घंटे पहले भेज दी दया याचिका…कालीन कंपनी के मालिक ने दोस्त संग मिलकर किया महिला…सरकारी नौकरी का वादा कर पति से ले गया दूर,…CCTV में कैद हुई शातिर महिला की करतूत, मंदिर में…दिल्ली चुनाव : इन 13 सीटों पर सबकी नजर, यहीं…वर्कआउट के दौरान कोहली दिखाये स्टंट, Video देख 1 ही…तीसरे T-20 मे कोहली कर सकते हैं डबल करिश्मा, पीछे…पड़ोसी के प्यार के लिए पति से लिया तलाक, लेकिन…‘BJP नेताओं के दिल्ली में ऐसे बोल, जैसे ये ‘चुनाव’…सारा अली का करिश्मा देख लोग हैरान, पुराने वीडियो पर…आलिया का मजाक उड़ाना कंगना की बहन को पड़ा भारी,…शरजील इमाम की मां ने बोली जो बात, क्या आपको…बीजेपी के लिए क्यों इतने झुक रहे नीतीश कुमार, पीके…शाहीन बाग पर बीजेपी सांसद बोले भड़काऊ बात, बॉलीवुड एक्ट्रेस…जिसे देख अर्णब गोस्वामी की बोलती हुई बंद, उस कॉमेडियन…कीवियों के खिलाफ ठुस्स हो जाते हैं ‘हिटमैन’, यकीन न…तीसरे टी20 के लिए टीम इंडिया ने की निराले अंदाज…इवेंट मे फूट-फूटकर रोने पर ट्रोल हुईं दिया मिर्जा, लोग…निर्भया के दोषियों ने जेल में अप्राकृतिक S$X की चली…शाहीन बाग के लिए हर दिन नई चुनौती, पहले बुर्कानशीं…अनुराग ठाकुर के ‘गोली मारो’ नारे पर जो बात बोले…EU संसद में CAA के खिलाफ प्रस्ताव पर कड़ा रुख…खुलकर सामने आये नीतीश, ख़त्म हुई PK की आखिरी उम्मीद,…शाह की रैली में पिटा छात्र बोला- ‘मैं पागल हूँ’…पहली मैरिज एनिवर्सरी पर हाथ-पैर बांध दिए पति और सास,…माही की इस रोमांटिक अदा पर साक्षी कैसे न हों…बेटियों की शादी उनके गांव में कराने को योगी राजी,…बुधवार का राशिफल, आज इन 5 राशि वालों की बढ़ेगी…देशद्रोह के आरोप में शरजील इमाम गिरफ्तार, छह राज्‍यों की…ऑटो पर लिखा I Love Kejriwal तो कटा इतने हजार…मासूम को क़ुदरत ने कर दिया मजबूर, उम्मीद है कि…सिर्फ 4 दिन में लीवर-किडनी होंगे एकदम परफेक्ट, ऐसे पीना…अब डॉक्टर के पास चक्कर लगाने की जरुरत नहीं, घर…जानिए क्या कहती है आपके नाक की बनावट, जानिए और…तकलीफो से भरी होती हैं ये 5 नाम वाले लोगो…रिकी पोंटिंग ने बताए दुनिया के टॉप-3 फील्डर्स, जानें कौन-कौन…इन 6 चीजों को पर्स में रखने से आप हो…निर्भया को इंसाफ : सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई से दूर…3 महीने पहले बंगाली बहू लाए थे हरियाणवी, आज पूरा…इस विभाग में निकली इन पदों पर पदों पर निकली…उर्वशी ने मैदान में लगाए चौके-छक्के, लोगों ने पंत के…पाक में मारा गया खालिस्तानी नेता ‘हैप्पी PhD’, भारत में…पद्म पुरस्कार पर जो लोग सवाल उठाए, अदनान सामी उन्हें…

सियासत : शाह के इस प्लान पर हाई कोर्ट ने फेरा पानी, रथ यात्रा को इजाजत नहीं…

BJP Rathyatra

नई दिल्ली : दीदी के गढ़ में भाजपा को एक बार फिर बड़ा झटका लगा है. बताते चले शाह की रथ यात्रा हाई कोर्ट ने पानी फेर दिया है . बब्ते चले आम चुनाव 2019 में अभी समय है लेकिन बीजेपी ने बंगाल की धरती पर अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए पुरजोर कोशिश शुरु कर दी है। राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की अगुवाई में शुक्रवार 7 दिसंबर को बीजेपी रथ यात्रा निकालने वाली थी लेकिन अब इस पर कलकत्ता हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। गुरुवार को सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट की एकल पीठ ने भारतीय जनता पार्टी को रथ यात्रा की इजाजत देने से इनकार कर दिया। यह रथ यात्रा कूचबिहार से शुरु होने वाली थी।

हाईकोर्ट की एकल पीठ के फैसले के खिलाफ बीजेपी डिविजन बेंच के पास पहुंची लेकिन वहां से भी पार्टी को राहत नहीं मिली और मामला कल यानी शुक्रवार तक के लिए टाल दिया गया है।

हाईकोर्ट के आदेशानुसार 9 जनवरी को होने वाली अगली सुनवाई तक रथ यात्रा नहीं निकाली जा सकती है। हाईकोर्ट ने अपनी बात कहने के दौरान उन 24 जिलों की रिपोर्ट्स का संज्ञान लिया जिनसे होकर यह यात्रा गुजरने वाली थी। इससे पहले पश्चिम बंगाल सरकार ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की कूचबिहार से शुरु होने वाली रथ यात्रा को अनुमति देने से यह कहते हुए मना कर दिया था कि इससे सांप्रदायिक तनाव पैदा हो सकता है।

समाचार एजेंसी  की रिपोर्ट के अनुसार 

भाजपा अपनी तीन रैलियों के लिए राज्य सरकार को अनुमति देने की मांग को लेकर अदालत गई। इस पर न्यायाधीश ने पूछा कि अगर कोई अप्रिय घटना होती है तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा? जवाब में भाजपा के वकील अनिंद्य मित्रा ने कहा कि पार्टी एक शांतिपूर्ण रैली आयोजित करेगी लेकिन कानून और व्यवस्था को बनाए रखना राज्य सरकार की जिम्मेदारी है।

मित्रा ने कहा कि संविधान राजनीति कार्यक्रम आयोजित करने के अधिकार की गारंटी देती है। उन्होंने कहा कि अप्रिय स्थिति की धारणा के आधार पर इंकार नहीं किया जा सकता है। न्यायाधीश ने पूछा कि क्या वह इसे स्थगित करने के लिए तैयार हैं। इस पर भाजपा के वकील ने नाकारात्मक जवाब दिया और कहा कि इसकी तैयारी लंबे समय से जारी है और अनुमति के लिए अक्टूबर में ही प्रशासन से संपर्क किया था।

उन्होंने कहा कि लंबे समय तक आवेदन रखने के बाद उन्होंने अब अनुमति देने से इंकार कर दिया है। अंत में एकलपीठ ने यात्रा स्थगित करने का फैसला सुनाया।

Share this post

scroll to top