ममता Vs शाह की होने जा रही शुरुआत, इसी महीने अपनी पसंद बताएगा बंगाल

0
81

एक तरफ टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी. दूसरी ओर बीजेपी अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह. इन दोनों दिग्गजों के लिए पश्चिम बंगाल की तीन विधानसभा सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव असल परीक्षा साबित होंगे. इन सीटों पर जो जीत हासिल करेगा उसके पक्ष में ही अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव हेतु माहौल बनेगा. दोनों दलों ने इसकी तैयारी अभी से शुरू कर दी है.

बता दे कि नवंबर में पश्चिम बंगाल में विधानसभा की तीन सीटों के लिए उपचुनाव होने वाले है. सत्तारुढ़ तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के लिए ये चुनाव एक बड़ी चुनौती है क्योंकि दोनों दल लोकसभा चुनाव के बाद एक बार फिर आमने सामने होंगे. जिस तरह से लोकसभा चुनाव में भाजपा ने प्रदर्शन किया था और उसके बाद वह लगातार टीएमसी के विधायकों और नेताओं को तोड़ रही थी. राज्य में उससे भाजपा की ताकत बढ़ती ही जा रही थी.

यह मुकाबला टीएमसी और भाजपा के मध्य माना जा रहा है. राज्य की जिन 3 सीटों के लिए उपचुनाव होने वाले हैं उनमें से एक-एक पर भाजपा, तृणमूल कांग्रेस और कांग्रेस का कब्ज़ा रहा है. तीनों को अपनी अपनी सीट बचाने की ज़िम्मेदारी है. जिन तीन सीटों पर राज्य में उपचुनाव होने हैं उसमें पश्चिम मेदिनीपुर जिले की खड़गपुर, उत्तर दिनाजपुर की कालियगंज, नदिया जिले की करीमपुर की सीट है.

कालियगंज सीट कांग्रेस विधायक प्रमथनाथ राय के निधन से खाली हुई है. खड़गपुर सीट से विधायक दिलीप घोष लोकसभा सदस्य बन गए हैं. करीमपुर की टीएमसी विधायक महुआ मित्रा भी कृष्णनगर संसदीय सीट से सांसद बन चुकी है. दोनों ने विधानसभा से इस्तीफ़ा दे दिया है.