क्राइम

अलवर में फिर हुआ दुष्कर्म, डिलीवरी कराने अस्पताल पहुंची दलित महिला की लूटी गई अस्मत

राजस्थान के अलवर में एक दलित महिला के साथ अस्पताल में दुष्कर्म का एक और मामला सामने आया है. अलवर के कठूमर कस्बे के राजकीय सामुदायिक अस्पताल में 7 मई को एक दलित महिला के साथ रेप हुआ था, जिसमें पुलिस द्वारा गिरफ्तार दूसरे आरोपी रामनिवास गुर्जर को पुलिस मंगलवार को न्यायालय में पेश करेगी. इससे पहले शनिवार को मामले के एक आरोपी को 15 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया था.

पीड़िता ने गुरुवार को कठूमर कस्बे के पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई थी. उसने बताया था कि वह 5 मई को अपनी पुत्रवधू की डिलीवरी कराने कठूमर स्थित सरकारी अस्पताल पहुंची थी. पुत्रवधू की सहायता के लिए वह अटेंडर के रूप में मौजूद थी. 7 मई की रात को 8 बजे एक मेल नर्स जो वहां ड्यूटी पर तैनात था. प्रसूता के नाम के कागज बनवाने के बहाने महिला को डिलीवरी रूम में ले गया. वहां पर एंबुलेंस का ड्राइवर पहले से ही मौजूद था. जैसे ही महिला डिलीवरी रूम के अंदर गई, तो मेल नर्स ने गैलरी के गेट बंद कर दिए और उसे बेड पर पटक दिया. ड्राइवर ने उसके साथ दुष्कर्म किया.

जैसे ही मेल नर्स ने भी गलत काम करने का प्रयास किया तो उसने उसे लात मार कर गिरा दिया और दोनों से दूर हट कर खड़ी हो गई. शोर करने पर दोनों लोगों ने उसे थप्पड़ मारे और धमकी दी कि अगर किसी को भी बताया तो उसकी बहू की डिलीवरी केस को खराब कर देंगे और उसके नवजात पोते को मार देंगे. जिससे वह डर गई और आनन-फानन में प्रसूता पुत्रवधू की छुट्टी करा पोते और बहू को सुरक्षित घर ले गई.

पुलिस ने गुरुवार को रिपोर्ट दर्ज कर पीड़ित महिला का मेडिकल कराया और मामले की जांच शुरू कर दी थी. जिसके बाद पुलिस ने मामले के दोनों आरोपी एम्बुलेंस चालक और मेल नर्स को गिरफ्तार कर लिया था.

 

Back to top button