सावधान ! जिस घरो में मौजूद होते है ये 5 दोष, वहां कभी नहीं टिकता धन

0
103

कभी कोई गरीब नहीं बनना चाहेगा. यहाँ तक कि जो अमीर हैं वो भी हमेशा और अधिक पैसा कमाने की सोचते रहते हैं. आप ने ये भी नोटिस किया होगा कि कई बार कोई गरीब अचानक से अमीर बन जाता हैं तो कोई अमीर गरीबी की गिरफ्त में आ जाता हैं. ये सारा खेल आपके घर की पॉजिटिव और नेगेटिव एनर्जी का होता हैं. जिस घर में अधिक नेगेटिविटी होती हैं वहां पैसा कभी भी ज्यादा दिनों तक नहीं टिकता हैं. ऐसे घरो में कुछ ना कुछ नुकसान होता रहता हैं. इस घर के सदस्यों की किस्मत भी काफी खराब होने लगती हैं और ये जिस भी काम में हाथ डालते हैं वो बिगड़ जाता हैं.

कई बार बहुत मेहनत करने पर भी पैसे नहीं टिकते, साथ ही हमेशा दरिद्रता बनी रहती है। ऐसे में इन परेशानियों का कारण घर मे मौजूद कुछ दोष हो सकते हैं।

अगर आपके भी घर में इन 5 में से कोई 1 भी वास्तु दोष मौजूद है तो आपको भी पैसों की कमी और दरिद्रता का सामना करना पड़ सकता है। जानिए कौन-से हैं वे 5 दोष जिनका दूर करके कई परेशानियों से बचा जा सकता है-

उत्तर-पूर्व दिशा में गंदगी होना

दरअसल वास्तु के अनुसार उत्तर-पूर्व दिशा धन आगमन की दिशा होती है.. ऐसे में जिस घर में इस दिशा में गंदगी या उचित साफ-सफाई का अभाव होता है, वहां हमेशा धन से सम्बंधित परेशानी रहती है .. ऐसे घर में जहां धन का आगमन बहुत धीमी गति से होता है और वहीं घर आया पैसा भी अधिक समय तक नहीं टिकता और वो व्यर्थ के कार्यो में जल्द ही खर्च हो जाता है।

उत्तर-पश्चिम दिशा में अंधेरा रहना

वास्तु के अनुसार उत्तर-पूर्व दिशा की तरह ही उत्तर-पश्चिम दिशा भी आर्थिक सम्पन्नता के लिए महत्वपूर्ण मानी जाती है। ऐसे में अगर इस दिशा में हर वक्त अंधेरा हो तो धन की हानि होती है और साथ ही परिवार में आपसी मतभेद रहता है ।

 दक्षिण दिशा में तिजोरी या आलमारी का होना

दक्षिण दिशा में आलमारी या तिजोरी का होना भी एक बड़ा वास्तु दोष है .. वास्तु शास्त्र के अनुसार इस दिशा में आलमारी या तिजोरी होने पर धन की हानि होती है। ऐसे में अगर आपके घर में ऐसा दोष है तो इससे बचने के लिए आलमारी या तिजोरी पर एक लाल रिबन में तीन सिक्के बांध कर टांग दें।

उत्तर पूर्व दिशा में रसोई का होना

इसके साथ ही वास्तु के अनुसार जिन घरों में उत्तर पूर्व दिशा में रसोई होती है, उस घर की आर्थिक स्थिति हमेशा कमजोर रहती हैं.. वहीं अगर पश्‍चिम या दक्षिण-पूर्व दिशा में रसोई हो तो घर में आर्थिक सम्पन्ना बनी रहती है।

गृहस्वामी का घर के दक्षिण-पूर्व दिशा में सोना

वहीं अगर घर का मुखिया घर के दक्षिण-पूर्व दिशा में बने कमरे में सोता हो तो फिर घर में अनावश्यक परेशानी बनी रहती है। आर्थिक समस्याओं से लेकर घर के सदस्यों में आपसी मतभेद बना रहता है।

ऐसे में अगर आपके घर में इन पांच वास्तु दोष में से कोई एक भी हो तो तुरंत उसका निवारण कर लें।अन्यथा आजीवन आपको दुर्भाग्य झेलना पड़ सकता है।