अखिलेश ने बताया सपा-बसपा का प्लान, प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्री पद को लेकर ऐसे बनी बात

0
36

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बड़ी चौकाने वाली बात कहीं. एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत करते हुए अखिलेश ने कहा कि वह बसपा सुप्रीमो मायावती को प्रधानमंत्री बनाने चाहते है. वहीं मायावती उन्हें उत्तरप्रदेश का मुख्यमंत्री बनाने के लिए पूरी मेहनत कर रही है. उन्होंने कहा,सपा-बसपा का गठबंधन 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव में भी जारी रहेगा.

अखिलेश ने कहा कि, कर्नाटक के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और जेडीएस नेतृत्व में बनी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में मायावती से मिले थे, लेकिन उनसे बात नहीं हो पाई थी. इसके बाद वह बसपा सुप्रीमो से मिले और उन्हें सपा-बसपा गठबंधन पर बात की. उन्होंने कहा, मेरे और मायावती के रिश्तों में कभी दरार नहीं थी. उनका मजबूत और जमीनी गठबंधन है. पार्टी के कार्यकर्ता लखनऊ से लेकर रॉबर्ट्सगंज तक एक साथ हैं.

सपा प्रमुख ने कहा कि भाजपा देश के लिए खतरा है. वह समाज को बांटने वाली वैचारिक रूप से अनैतिक और तानाशाही भरी पार्टी को समर्थन नहीं दे सकता हूं. उन्होंने कहा कि, यूपी के चुनाव में कांग्रेस के साथ हमारा गठबंधन था. हम उनके साथ लोकसभा चुनाव भी लड़ना चाहते थे, लेकिन मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस हमको भूल गई. सपा नेता ने कहा, भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टी घमंडी है. उन्होंने कहा, महागठबंधन का सिर्फ एक ही संकल्प है नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद से हटाना.

इससे पहले मायावती ने भी प्रधानमंत्री पद को लेकर एक बड़ा बयान दिया था. मायावती ने अंबेडकर नगर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि अगर मुझे पीएम बनने का मौका मिला तो लोकसभा चुनाव लडूंगी, क्योंकि दिल्ली का राजनीतिक रास्ता अंबेडकर नगर से होकर जाता है. मायावती के इस बयान पर अखिलेश ने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि इस पर फैसला 23 मई के बाद होगा. बता दें कि मायावती इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ रही हैं.