उत्तर प्रदेश

ऐन वक्त पर अखिलेश ने आजमगढ़ में कैंसिल किये अपने प्रोग्राम, ये है वजह

Lok Sabha elections- A big blow to Samajwadi Party, Akhilesh Yadav's all rallies canceled in Azamgarh

लखनऊ । लोकसभा चुनाव के अंतिम दो दौर में उत्तर प्रदेश की 27 सीटों के लिए सभी प्रमुख दलों के दिग्गजों ने पूरी ताकत झोंक दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गुरुवार को ताबड़तोड़ तीन रैलियां हैं, जबकि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह चार चुनावी सभाएं करेंगे। प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से अब तक 53 सीटों के लिए पांच चरणों में मतदान हो चुके हैं।

इस बीच बताते चले समाजवादी पार्टी ने अध्यक्ष अखिलेश यादव की शुक्रवार को होने वाली चार जन सभाओं को रद्द करने की घोषणा करते हुए जिला प्रशासन पर बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि सत्ता के दबाव में जिला प्रशासन ने उनके चुनावी खर्च की राशि को बढ़ा दिया है।

सपा के जिलाध्यक्ष हवलदार यादव ने आरोप लगाया कि सत्ता के दबाव में निर्वाचन से जुड़ी संस्थाएं मुख्य रूप से जिला प्रशासन तकनीकी दृष्टि से इस चुनाव को रद्द कराने का बहाना तलाश रहा है इसलिये चुनाव प्रचार के आखिरी दो दिन शेष रहती चुनाव मद में होने वाले खर्च की पूर्व निर्धारित दरों को संशोधित कर दिया गया है।

 

 

जानिए इस मामले में क्या बोले जिलाधिकारी

वहीं जिलाधिकारी शिवाकांत द्विवेदी ने सपा के सभी आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि सपा मुखिया और गठबंधन के प्रत्याशी अखिलेश यादव की सभा रद्द होने के लिए सपा ने खुद ही अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि प्रशासन की तरफ से अखिलेश की सभा करने लिए कोई अवरोध उत्पन्न नहीं किया गया है। सभा करना या न करना, यह सपा का अपना निर्णय है।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव आज सिद्धार्थनगर में चुनावी सभा को सम्बोधित करेंगे। बसपा सुप्रीमो मायावती के साथ कल उन्होंने आजमगढ़ में चुनावी सभा की थी। अखिलेश यादव स्वयं आजमगढ़ से चुनाव लड़ रहे हैं। अखिलेश और मायावती इन दोनों चरणों के लिए अब तक कई जनसभाओं को संबोधित कर चुके हैं। अखिलेश यादव 11 मई को तीन घंटे में गोरखपुर में दो रैलियों को संबोधित करेंगे। इसके बाद 13 मई को भी वह बसपा सुप्रीमो मायावती के साथ गोरखपुर में संयुक्त जनसभा को संबोधित करेंगे।

अब छठे चरण में 12 मई को 14 सीट पर वोट पड़ेंगे। इस चरण में सुलतानपुर, प्रतापगढ़, फूलपुर, प्रयागराज, अंबेडकरनगर, श्रावस्ती, डुमरियागंज, बस्ती, संत कबीर नगर, लालगंज, आजमगढ़, जौनपुर, मछलीशहर और भदोही शामिल हैं। वहीं सातवें व अंतिम चरण में 13 सीटों महराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मीरजापुर और राबर्ट्सगंज के लिए 19 मई को मतदान होंगे। इन दोनों चरणों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा सपा मुखिया अखिलेश यादव, केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी और सूबे की पयर्टन मंत्री डा0 रीता बहुगुणा जोशी समेत कई सियासी धुरंधरों के भाग्य का फैसला होगा।

Back to top button