AIIMS के डॉक्टर बोले- हमारी ‘मन की बात’ भी सुनें PM, दिला दें PPE

0
186

कोरोनावायरस महामारी में स्वास्थ्यकर्मी ही वास्तव में हीरो हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संबोधन में यह बात कह चुके हैं. ऐसे में कोरोनावायरस से लड़ने वाले इन युद्धवीरों के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम होना जरूरी है. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएएशन (RDA) के महासचिव श्रीनिवास राजकुमार ने निजी सुरक्षा उपकरण पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट (पीपीई) की कमी को लेकर चिंता जताई है.

उन्होंने पीएम मोदी के ट्वीट पर कहा, “हम हर मिनट पीपीई की मांग कर रहे हैं. कृपया करके हमारी ‘मन की बात’ भी सुनें!!.”

https://twitter.com/srinivas_aiims/status/1246051578689122306

यह मांग ऐसे समय की गई है जब कोरोनावायरस से जंग लड़ रहे डॉक्टरों के भी कोरोनावायरस से संक्रमित होने की खबरें आई हैं. आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, देशभर में अबतक 50 डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ कोरोनावायरस से संक्रमित हो चुके हैं. इससे पहले गुरुवार को AIIMS के एक डॉक्टर के कोरोना संक्रमित होने की खबर आई थी.

बुधवार को भी सफदरजंग अस्पताल के दो रेजिडेंट डॉक्टरों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी. बताया गया था कि अस्पताल में कोविड-19 मरीजों का इलाज कर रही टीम में शामिल एक डॉक्टर ड्यूटी के दौरान संक्रमित हुआ है. दिल्ली सरकार के मोहल्ला क्लीनिक के दो डॉक्टर और कैंसर सेंटर का एक डॉक्टर भी संक्रमित पाया गया था.

कुलमिलाकर भारत में कोरोनावायरस के संक्रमण की रफ्तार बहुत तेजी से बढ़ रही है. भारत में कोरोना वायरस (COVID-19) से अब तक 68 लोगों की जानें जा चुकी हैं और संक्रमितों की संख्या 2900 के पार पहुंच गई है.