उत्तर प्रदेश

लोगों से कर रहे थे मेल-मिलाप, और आ गई विधायक जी की मौत

जगन प्रसाद गर्ग ने लगातार 5 बार आगरा उत्तरी सीट से जीत हासिल की थी (फाइल फोटो)

भारतीय जनता पार्टी के वर्तमान विधायक जगन प्रसाद गर्ग का बुधवार को आकस्मिक निधन हो गया। विधायक गर्ग उत्तर विधानसभा सीट से पांचवीं बार विधायक चुने गए थे। उनकी मृत्यु की पुष्टि भाजपा कार्यकर्ताओं ने की।
भाजपा विधायक जगन प्रसाद गर्ग के निधन से समूची भाजपा में शोक की लहर दौड़ गई है। जगन प्रसाद गर्ग अपने बेबाक बयानों से सुर्खियों में रहे थे। साल 2014 में अरुण जेटली पर उन्होंने विवादित बयान भी दिया था। नोटबंदी और जीएसटी पर उन्होंने खुलकर अपनी बात रखी थी।

जगन प्रसाद गर्ग ने आगरा कॉलेज से स्नातक की शिक्षा प्राप्त की थी। साल 1998 में उन्होंने विधानसभा का उपचुनाव जीता था। इसके बाद वे उत्तर विधानसभा सीट से लगातार चुनाव जीतते रहे। उत्तर विधानसभा सीट पर वे खासे चर्चित विधायक थे।  बताते हैं कि भाजपा विधायक जगन प्रसाद गर्ग का स्वास्थ्य पिछले दो दिनों से खराब था। भाजपा के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए वे जा रहे थे लेकिन, वहां कार्यकर्ताओं से कहते थे ज्यादा बोल नहीं सकूंगा, स्वास्थ्य खराब है। बुधवार दोपहर बाद जब उनकी तबियत अचानक बिगड़ी तो परिजन उन्हें पुष्पांजलि अस्पताल ले गए, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया।

बताते चलें कि दिवंगत विधायक जगन प्रसाद गर्ग उस वक्त चर्चा में आए थे. जब उन्होंने अपनी ही सरकार के अधिकारियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था. उन्होंने अपने लेटर हेड पर उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना के नाम से एक पत्र लिखा था. जिसमें उन्होंने साफ तौर पर कहा था कि आगरा नगर निगम के अफसर ठेकेदारों से कमीशन लेते हैं. उन्होंने बाकायदा इसकी रेट लिस्ट भी जारी की थी.

Back to top button