SC संकट: जजों के आरोपों के बाद बार एसोसिएशन में हलचल, बुलाई बैठक

सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों द्वारा चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ बगावती तेवर अपनाए जाने के बाद राजनीति गरमाती जा रही है. खबर है कि इस मामले को खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संज्ञान में लिया है. शनिवार की सुबह प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा ने सीजेआई दीपक मिश्रा से उनके निवास पर मुलाकात की. मीडिया में नृपेंद्र मिश्रा को सीजेआई के घर से निकलते हुए फोटो जारी हुए हैं.

बार एसोसिएशन बोला

इस घटना के बाद मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के कल मीडिया के सामने आने की बात कही जा रही थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. चर्चा है कि सीजेआई आज सुप्रीम कोर्ट के अन्य सभी जजों से मुलाकात कर सकते हैं. इस बारे में बार एसोसिएशन ने एक बैठक भी बुलाई है. कयास लगाए जा रहे हैं कि इस बैठक में यह विवाद सुलझ सकता है. सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष विकास सिंह ने कहा कि अगर वे (जज) मीडिया के सामने आए भी थे तो उन्हें कुछ महत्वपूर्ण कहना चाहिए था. सिर्फ लोगों के दिमाग में न्यायपालिका के खिलाफ गलतफहमी पैदा करना ठीक नहीं है. साथ ही ये भी तय नहीं था कि वे जस्टिस लोया के केस पर कुछ बयान देंगे.

अटॉर्नी जनरल ने दिए सुलह के संकेत

Advertisement

सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जजों द्वारा भारत के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा पर सवाल उठाए जाने को लेकर अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने कहा कि यह मुद्दा आज सुलझा लिया जाएगा. अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के जज अपने मतभेद 13 जनवरी तक सुलझा सकते हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों के प्रेस कॉन्फ्रेंस को टाला जा सकता था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट सभी जज बहुत ही अनुभवी और कुशल हैं और मुझे उम्मीद है कि शनिवार तक इस विवाद का हल हो जाएगा.

advt