पति के घर से चले जाने पर ससुर पूरे करता था बहू से साथ अपने सारे अरमान, और एक दिन….

0
81

पुलिस ने ओमप्रकाश हत्याकांड का रविवार को खुलासा कर मृतक के पुत्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बहू से अवैध सम्बंध होने की जानकारी के बाद आपा खोकर पुत्र ने पिता को मौत के घाट उतार दिया था।

तारून थाना क्षेत्र के ग्राम फतेहपुर कमसिन में 27 जून की मध्य रात्रि में बांका के प्रहार से वृद्ध ओम प्रकाश की हत्या कर दी गयी थी। हत्या की उलझी गुत्थी सुलझाने में पुलिस को काफी वक्त लगा लेकिन मामले का खुलासा करते हुए पिता की हत्या के आरोप में पुत्र सूरज कुमार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में रविवार को पुलिस अधीक्षक ग्रामीण शैलेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि हत्यारोपी ने इकबालिया बयान में कहा है कि मेरा पिता ओम प्रकाश शराब पीने का आदी था।

जब वह राजगीर का काम करने बाहर चला जाता था तो अकेले में उसकी पत्नी पर वह डोरे डालने लगा था। अन्ततः दोनों में अवैध सम्बंध हो गये जिसकी जानकारी होने पर पुत्र ने अपने पिता की हत्या करने का निर्णय कर डाला और आधी रात जब पिता ओम प्रकाश शराब के नशे में सो रहे थे तो बांके से प्रहार कर उसकी हत्या कर दी और वह अपने बिस्तर पर जाकर सो गया। सुबह लोगों ने जब ओम प्रकाश का शव बिस्तर पर पड़ा देखा तो पुलिस को सूचना दी गयी।

तारून थाना पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर छानबीन शुरू की। चूंकि मृतक ओम प्रकाश की दुश्मनी किसी से नहीं थी, इसलिए इस उलझे हुए मामले को सुलझाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। अन्ततः रविवार को कामाख्या मन्दिर के पास पुत्र सूरज कुमार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।