उत्तर प्रदेश

यूपी में गाड़ी चलाने वाले जरूर पढ़ें योगी का ये आदेश, वरना फंस जाएंगे मुसीबत में

उत्तर प्रदेश के आज़मगढ़ में रविवार को मंडल की समीक्षा बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में बेपटरी हुई कानून व्यवस्था पर चिंता जाहिर करते हुए पुलिस अधीक्षकों को जमकर फटकार लगाई। इस दौरान सीएम ने कहा कि सभी पुलिस अधीक्षक या तो अपराध रोकें या कार्रवाई के लिए तैयार रहें। वहीं सीएम ने यातायात व्यवस्था की बदहाली पर भी चिंता जाहिर की साथ ही कहा कि बिना लाइसेंस और बिना हेलमेट पहने कोई भी वाहन चलाते मिले तो उस पर फौरन कार्रवाई की जाए। 
इस बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वे या तो अपराध नियंत्रित करें या कार्रवाई के लिए तैयार रहें। वहीं सीएम ने 50 लाख से ज्यादा की लंबित परियोजनाओं को अभियान चलाकर पूरा करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही सीएम ने सड़क हादसे बढ़ने की समस्या पर चिंता जाहिर करते हुए कड़े निर्देश दिए कि अगर बिना लाइसेंस, बिना हेलमेट कोई भी वाहन चलाते मिले तो उस पर फौरन कार्रवाई करें।
 

थानावार टॉप-10 अपराधियों की सूची तैयार करें

मुख्यमंत्री ने कमिश्नरी सभागार में आजमगढ़, मऊ और बलिया जिले की समीक्षा के दौरान कहा कि संवाद वन-वे नहीं होना चाहिए। आमजन के साथ जनप्रतिनिधियों संवाद बनाए रखें ताकि लोग लखनऊ तक नहीं दौड़ें। वहीं वे मऊ में वाहनों पर लाल एवं नीली बत्तियों के धड़ल्ले से किए जा रहे इस्तेमाल पर काफी  नाराज दिखे। उन्होने कहा कि समाज विरोधी एवं राष्ट्र विरोधी तत्वों की गतिविधियों पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए थानावार टॉंप-10 अपराधियों की सूची तैयार करें। 
 

अपराधियो के साथ सांठ-गांठ रखने वाले पुलिसकर्मियों की सूची हो तैयार

इसके साथ ही सीएम ने कड़े निर्देश दिए कि एक ही स्थान पर कार्यरत और अपराधियों के साथ सांठगांठ रखने वाले पुलिसकर्मियों की भी सूची तैयार की जाए। कहीं भी कोई आपराधिक घटना होती है तो थाने के साथ सर्किल के अधिकारी को भी जिम्मेदार मान कार्रवाई की जाएगी।
Back to top button