जरा हट के

जो बहुएं करती हैं ये काम, उन्हें दिल में बसाकर रखती हैं सास

सास बहू की तू तू मैं मैं के किस्से पुरे देश में मशहूर हैं. इन दोनों का रिश्ता कैसा होता हैं ये तो आप सभी अच्छे से जानते ही होंगे. लेकिन हर बार सास बहू एक दुसरे से नफरत नही करती हैं, बल्कि कुछ लम्हें ऐसे भी आते हैं जब इन दोनों को एक दुसरे पर बहुत प्यार आता हैं. यदि बहू घर में आने के बाद अपनी कुछ आदतें सुधार ले और कुछ विशेष काम करने लगे तो हर सास उसे अपनी बेटी जैसा प्यार देगी और खूब लाड़ प्यार से रखेगी. इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम आपको कुछ ऐसे कामो के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें यदि घर की बहू करती हैं तो बदले में उसे सास का प्यार मिलेगा. तो चलिए बिना किसी देरी के इन कामो के बारे में जान लेते हैं.

प्यार से खाना बनाना और खिलाना:

खाना एक ऐसी चीज हैं जो किसी का भी दिल जितने का सबसे आसान तरीका होता हैं. आप ने खाना कितना भी स्वादिष्ट क्यों ना बनाया हो लेकिन यदि आप इसे सामने वाले को प्रेमपूर्वक नहीं परसोगे तो उसे खाने का आनंद कभी नहीं आएगा. इसलिए जब भी आप अपनी सास को खाने परोसे तो बड़े प्यार के साथ दे. बड़े लोग प्रेम और इज्जत के ही भूखे होते हैं. जहाँ तक संभव हो उन्हें समय पर खाना बना के दे. इसके अलावा आप अपनी सास से भी खाने की कुछ टिप्स ले सकती हैं इससे अप दोनों की बोंडिंग और भी स्ट्रांग हो जायेगी.

सम्मान और इज्जत देना:

ऐसा कहा जाता हैं कि यदि आप सामने वाले को इज्जत दोगे तो वो भी आपको मान सम्मान देगा. ये बहुत ही सिंपल और कॉमन सेन्स की बात हैं. आप दूसरों के साथ जैसा व्यवहार करते हैं सामने वाला भी आप से वैसा ही पेश आता हैं. यदि आप किसी के साथ रोज दिल से और पुरे सम्मान के साथ बातचीत करोगे तो जाहिर सी बात हैं सामने वाले का भी दिल पिघल जाएगा और वो भी आपसे उतने ही प्रेम पूर्वक बातचीत करेगा. यही बात सास बहू पर भी लागु होती हैं.

एक दुसरे के विचारों का सम्मान:

सास बहु के बीच 90 प्रतिसत मामलो में लड़ाई झगड़ा सिर्फ इसलिए होता हैं क्योंकि किसी बात को लेकर दोनों के विचार और सोच मेल नहीं खाते हैं. इस स्थिति में आपको अपनी सास की बातो और विचारो का सम्मान करना चाहिए. यदि उनकी सोच से किसी का नुकसान नहीं हो रहा हैं और वो इंसानियत के हिसाब से भी ठीक हैं तो उसे मानने में कोई हर्ज नहीं हैं. यदि आपको अपनी सास की कोई बात पिछड़ी हुई लग रही हैं या आप उस से सहमत नहीं हैं तो इनसे सीधा लड़ाई करने ना भीड़ जाए. बल्कि उन्हें पुरे लॉजिक और उदाहरण के साथ अपनी बात प्रेम पूर्वक समझाए. अधिकतर केस में सास अपनी बहू की प्रेम भरी बातों में आ जाती हैं और मान जाती हैं. यदि ये संभव ना हो तो कोई बीच की जुगाड़ खोजे.

नोट: ताली दोनों हाथो से बजती हैं इसलिए ये सारी बातें सास के ऊपर भी लागू होती हैं. यदि वो अपनी बहु को बेटी सामान रखेगी तो उन्हें भी बदले में मान सम्मान ही मिलेगा.

Back to top button