महाराष्ट्र में 6 दिन के नवजात को हुआ कोरोना, संक्रमित मरीज का बेड दिए जाने का आरोप

0
72

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस ( Coronavirus ) ने अपना पांव नवजात तक फैला लिया है। इस तरह का पहला मामला मुंबई ( Mumbai ) में सामने आया है। देश में पहली बार मुंबई में एक महिला और उसका 3 दिन का बच्चा कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। बताया जा रहा है कि यह देश का सबसे कम उम्र का कोरोना मरीज है।

दरअसल, 26 मार्च को एक महिला की डिलिवरी चेम्बूर के एक निजी अस्पताल में हुई। डिलिवरी के बाद मां बेटा दोनों कोरोना पॉजिटिव ( Corona Positive ) पाए गए हैं। फिलहाल दोनों का इलाज चल रहा है।

इससे पहले मार्च के पहले पखवाड़े में दुनिया में पहली बार इंग्लैंड में मां के गर्भ से नवजात बच्चा कोरोना वायरस से संक्रमित निकला था। जबकि नवजात के मां को लग रहा था कि उसे न्यूमोनिया हुआ है। लेकिन जांच के बाद मां को पता चला कि बच्चा कोरोना वायरस से संक्रमित है। अब मां और बच्चे का अलग-अलग अस्पताल में इलाज चल रहा है।

फिलहाल मुंबई में कोरोना से पीड़ित महिला के पति ने अस्पताल प्रबंधन पर आरोप लगाया कि उनकी पत्नी को कोरोना मरीज के बगल में बेड दिया गया था, जिसके कारण पत्नी और बच्चा कोरोना वायरस से संक्रमित हुआ। उन्होंने बताया कि जिस दिन मैंने पत्नी को भर्ती किया था उसके अगले ही दिन अस्पताल प्रशासन को पता चला कि जिस मरीज के बगल में मेरी पत्नी को रखा गया था, वह पॉजिटिव है। इसके बावजूद अस्पताल प्रशासन ने इस बार में हमें कुछ नहीं बताया।

जब मामला काफी बढ़ गया तो हमें भी कोरोना का टेस्ट ( Corona Test ) कराने को कहा गया। इसके लिए हमने बीएमसी की ओर से जिन प्राइवेट लैब द्वारा टेस्ट किया जा रहा है उन्हें कॉल करके बुलाया और सैंपल दिया। रिपोर्ट के अनुसार मेरी पत्नी और बच्चा दोनों पॉजिटिव आए हैं जबकि मेरी रिपोर्ट निगेटिव थी। फिलहाल, पत्नी और बच्चे को कस्तूरबा अस्पताल ( Kasturba Hospital ) में भर्ती किया गया है और उनका इलाज जारी है।