क्राइम

3 महीने पहले परिवार से लड़कर जिसे बनाया बीवी, कुत्ते को बांधने वाली जंजीर से उसकी जान ले ली

इंदौर के जावरा कंपाउंड इलाके में पति ने ही अपनी पत्नी की पहले कुत्ते को बांधने वाली चेन से गला दबाया फिर चाकू से वार कर हत्या कर दी। हत्या के बाद पति शव के पास ही बैठा रहा और कुछ देर बाद पिता को कॉल कर वारदात की जानकारी दी। पिता ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।

जावरा कंपाउंड में रहने वाली 22 साल की नवविवाहित अंशु शर्मा की पति हर्ष ने हत्या की है। पारिवारिक विवाद के बाद हर्ष ने देर रात जंजीर से पत्नी का गला दबाया और चाकू मार कर हत्या की। पत्नी की हत्या करने के बाद वह वहीं पर काफी देर तक बैठा रहा। इसके बाद उसने अपने पिता को कॉल किया और हत्या की बात बताई।

संयोगितागंज पुलिस के मुताबिक, मां संतोषी की रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि हर्ष से 8 अगस्त को शादी की थी। वे जावरा कंपाउंड में फ्लैट में रह रहे थे। तात्कालिक विवाद में संदेहास्पद मौत हुई है। चेहरे पर चोट के निशान हैं। पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत कैसे हुई इस बात का पता चल पाएगा। मामले की जांच सीएसपी संयोगितागंज कर रही हैं।

हर्ष की कंपनी में काम करने के दौरान हुई मुलाकात
हर्ष के पिता राजीव शर्मा का ऑर्गेनिक के साथ ही एडवाइजरी का भी कामकाज है। अंशु ने कुछ समय पहले ही कंपनी में काम करना शुरू किया था। यहीं पर दोनों की मुलाकात हुई थी। दोस्ती प्यार में बदली तो दोनों ने साथ रहने का निर्णय ले लिया। तीन महीने पहले ही दोनों ने साथ रहना शुरू किया। इसी दौरान उन्होंने आर्य समाज मंदिर में शादी कर ली। यह भी बात सामने आई है कि लड़की अपने परिजनों को बिना बताए हर्ष के साथ रहने आ गई थी।

आए दिन होता था विवाद

पूछताछ में पति ने बताया कि तकरीबन 2 महीने पहले ही उसने आर्य समाज मंदिर से अंशु से प्रेम विवाह किया था। विवाह के बाद से ही वह छोटी-छोटी बातों को लेकर हमेशा विवाद करती रहती थी। घटना वाले दिन भी उसने किसी बात को लेकर विवाद किया और विवाद इतना बढ़ गया कि उसने पहले अंशु का जंजीर से गला दबाया, लेकिन उससे मौत नहीं हुई तो उसने किचन में रखे चाकू से घटना को अंजाम दिया।

अगस्त में दोनों ने मर्जी से शादी की थी

अंशु की मां ने बताया कि देर रात थाने से फोन आया था कि आपकी बेटी की कुछ दिक्कत हाे गई, थाने पर आ जाओ। हमारे आते ही हर्ष के पिता हाथ जोड़कर कहने लगे की हमें बचा लेना। इस पर मैंने कहा कि पहले ये तो बताओ की आप लोगों ने मेरी बेटी के साथ किया क्या है। इस पर पुलिस ने कहा कि आप भीतर चले जाओ। मैंने मैडम से जाकर पूछा तो उन्होंने कहा कि आपकी बेटी की मौत हो गई है। वे तीनों बाप-बेटे आराम से सो रहे थे। इनकी मुलाकात तीन महीने पहले ही हुई थी। वह हर्ष के ऑफिस में काम करती थी। एक महीने बाद ही दोनों आए और कहा कि हम अपनी मर्जी से शादी करना चाहते हैं। इसके बाद बिना बताए वो घर से लेकर चला गया था। 10-12 दिन बाद पता चला कि उन्होंने शादी कर ली है। दाेनों ने अगस्त में लव मैरिज कर ली थी। दोनों अच्छे से रह रहे थे, उनके बीच कोई विवाद नहीं था।


loading…

loading…

Back to top button