खेल

20 ओवर बैटिंग करने के बाद सबसे छोटा स्कोर बनाई KKR, 7वां मैच जीती RCB, हीरो रहे सिराज

आईपीएल के 13वें सीजन के 39वें मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) ने कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) को 8 विकेट से हरा दिया। कोलकाता ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करते हुए सीजन का सबसे छोटा 85 रन का टारगेट दिया। इसके जवाब में आरसीबी ने 13.3 ओवर में 2 विकेट गंवाकर 85 रन बनाते हुए मैच जीत लिया। सीजन में इससे पहले सनराइजर्स हैदराबाद ने केकेआर को 143 रन का टारगेट दिया था।

आरसीबी के लिए देवदत्त पडिक्कल ने 25, एरॉन फिंच ने 16, गुरकीरत सिंह ने 21 और विराट कोहली ने 18 रन की पारी खेली। केकेआर के लिए लोकी फर्ग्यूसन ने एक विकेट लिया। फिंच को फर्ग्यूसन ने विकेटकीपर दिनेश कार्तिक के हाथों कैच आउट कराया, जबकि पडिक्कल को पैट कमिंस ने रनआउट किया। बेंगलुरु के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज को मैन ऑफ द मैच चुना गया। उन्होंने 8 रन देकर 3 विकेट लिए।

कोलकाता ने सीजन का सबसे छोटा स्कोर बनाया

केकेआर ने 20 ओवर में 8 विकेट पर 84 रन बनाए। यह इस सीजन का सबसे छोटा स्कोर है। इससे पहले सीजन के छठवें मैच में आरसीबी ने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 17 ओवर में 109 रन बनाए थे। आईपीएल इतिहास का सबसे छोटा स्कोर 49 रन का है, जो आरसीबी ने 2017 में केकेआर के खिलाफ बनाया था।

केकेआर ने 14 रन पर 4 विकेट गंवाए
कोलकाता की शुरुआत बेहद खराब रही। 14 रन पर ही 4 विकेट गंवा दिए। शुभमन गिल (1), राहुल त्रिपाठी (1), नीतीश राणा (0) और टॉम बेंटन (10) जल्दी पवेलियन लौट गए। मोहम्मद सिराज ने पारी के दूसरे ओवर में लगातार दो बॉल पर विकेट लिए। उन्होंने राहुल को विकेटकीपर डिविलियर्स के हाथों कैच आउट कराया। फिर नीतीश को क्लीन बोल्ड किया।

सिराज ने 3 और चहल ने 2 विकेट लिए
कोलकाता के 5 बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा नहीं छू सके। टीम के लिए कप्तान इयोन मॉर्गन ने सबसे ज्यादा 30 रन बनाए। आरसीबी के लिए मोहम्मद सिराज ने 3 और युजवेंद्र चहल ने 2 विकेट लिए। चहल ने दिनेश कार्तिक (4) को एलबीडब्ल्यू और पैट कमिंस (4) को देवदत्त पडिक्कल के हाथों कैच आउट कराया। ओपनर शुभमन गिल 6 बॉल पर 1 रन बनाकर नवदीप सैनी की बॉल पर आउट हुए। क्रिस मॉरिस ने उनका कैच लिया।

IPL का सबसे छोटा 49 रन का स्कोर 2017 में आरसीबी ने बनाया

टीम स्कोर ओवर किसके खिलाफ कब
रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु 49 9.4 कोलकाता नाइट राइडर्स 2017
राजस्थान रॉयल्स 58 15.1 रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु 2009
दिल्ली डेयरडेविल्स 66 13.4 मुंबई इंडियंस 2017
दिल्ली डेयरडेविल्स 67 17.1 किंग्स इलेवन पंजाब 2017
कोलकाता नाइट राइडर्स 67 15.2 मुंबई इंडियंस 2008

20 ओवर बैटिंग करने के बाद सबसे छोटा स्कोर
IPL में पहली बार केकेआर ने 20 ओवर बैटिंग करने के बाद 84 रन का सबसे छोटा स्कोर बनाया है। इससे पहले 2009 में साउथ अफ्रीका के डरबन में किंग्स इलेवन पंजाब ने चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 20 ओवर खेलकर 8 विकेट पर 92 रन बनाए थे।

IPL में सिराज अकेले बॉलर, जिन्होंने एक मैच में दो मेडन ओवर किए
बेंगलुरु के मोहम्मद सिराज एक मैच में दो मेडन फेंकने वाले पहले बॉलर बन गए हैं। इस मैच में उन्होंने 4 ओवर में 8 रन देकर 3 विकेट लिए। इस दौरान सिराज ने 2 मेडन ओवर भी किए। मैच में बेंगलुरु के बॉलर्स ने कुल 4 मेडन ओवर फेंके। सिराज के अलावा क्रिस मॉरिस और वाशिंगटन सुंदर ने 1-1 मेडन ओवर किया।

दोनों टीमों के सबसे सस्ते-महंगे प्लेयर
RCB के प्लेइंग इलेवन में कप्तान कोहली सबसे महंगे खिलाड़ी रहे। टीम उन्हें एक सीजन के 17 करोड़ रुपए देगी। कोहली 17 बॉल पर 18 रन बनाकर नाबाद रहे। वहीं, देवदत्त पडिक्कल 20 लाख रुपए के साथ सबसे सस्ते प्लेयर रहे। उन्होंने 17 बॉल पर 25 रन बनाए।

कोलकाता टीम में पैट कमिंस सबसे महंगे खिलाड़ी रहे। उन्हें एक सीजन के 15.50 करोड़ रुपए मिलेंगे। कमिंस ने 3 ओवर में 18 रन कोई विकेट नहीं लिया। वहीं, प्रसिद्ध कृष्णा 20 लाख रुपए के साथ सबसे सस्ते प्लेयर रहे। उन्होंने 2.3 ओवर में 20 रन दिए। उन्हें भी कोई विकेट हासिल नहीं हुआ।

केकेआर टीम में दो बदलाव

केकेआर ने दो बदलाव किए थे। टीम में टॉम बेंटन और प्रसिद्ध कृष्णा की वापसी हुई। आंद्रे रसेल और शिवम मावी को बाहर किया। वहीं, आरसीबी में एक बदलाव हुआ। शाहबाज अहमद की जगह मोहम्मद सिराज को मौका मिला।

दोनों टीम में विदेशी खिलाड़ी
आरसीबी के कप्तान विराट कोहली ने प्लेइंग इलेवन में एरॉन फिंच, एबी डिविलियर्स, क्रिस मॉरिस और इसुरु उडाना जैसे विदेशी खिलाड़ी शामिल हैं। केकेआर में कप्तान इयोन मॉर्गन के अलावा टॉम बेंटन, पैट कमिंस और लोकी फर्ग्यूसन हैं।

कोलकाता ने 2 बार खिताब जीता, बेंगलुरु को अब भी इंतजार
आईपीएल इतिहास में कोलकाता ने अब तक दो बार फाइनल (2014, 2012) खेला और दोनों बार चैम्पियन रही है। वहीं, आरसीबी ने 2009 में अनिल कुंबले और 2011 में डेनियल विटोरी की कप्तानी में फाइनल खेला था। 2016 में विराट की कप्तानी में भी टीम फाइनल में पहुंची। लेकिन, एक बार भी खिताब नहीं जीत सकी।

Back to top button