1.8 अरब डॉलर के फ्रॉड ट्रांजैक्शन की खुली पोल, PNB के शेयर में 7.8% की गिरावट

मुंबई: सरकारी क्षेत्र के बैंक पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने बुधवार को बड़ा खुलासा कियाा है. पीएनबी ने बताया है कि उसने 1.8 अरब डॉलर (करीब 11,330 करोड़ रुपए) के फ्रॉड और अनअॉथराइज्‍ड ट्रांजैक्‍शन का पता लगाया है. यह ट्रांजैक्‍शन बैंक की मुंबई स्थित ब्रांच से हुआ. वहीं इस खुलास के बाद 11.48 बजे तक (बंबई स्टॉक एक्सचेंज) बीएसई पर पीएनबी के स्टॉक 7.82 फीसदी गिरावट दर्ज की गई.

खाताधारकों को फायदा पहुंचाने को हुए ट्रैजेक्शन

स्‍टॉक एक्‍सचेंज बीएसई को दिए एक स्‍टेटमेंट में पीएनबी ने कहा है कि यह ट्रांजैक्‍शंस कुछ चुनिंदा अकाउंट होल्‍डर्स को फायदा पहुंचाने के लिए हुए थे. साथ ही इस फर्जी लेनदेने के आधार पर दूसरे बैंकों ने इन ग्राहकों को विदेश में अग्रिम पैसे हस्तांतरित किये.

एन्‍फोर्समेंट एजेंसियों को दी जानकारी 

हालांकि पीएनबी ने अभी इस धोखाधड़ी में शामिल लोगों के नाम का खुलासा नहीं किया है. लेकिन, उसने बताया कि इस डील की जानकारी एन्‍फोर्समेंट एजेंसियों को दी जा चुकी है. बैंक के मुताबिक, वह बाद में इस बात का आंकलन करेगा कि क्या इन ट्रांजैक्शन से उसकी कोई देनदारी बनती है?

शेयर बाजार में पीएनबी स्टॉक 8% लुढंका

पीएनबी में फ्रॉड और अनऑथराइज्‍ड ट्रांजैक्‍शन की खबर के बाद पीएनबी स्टॉक्स में भारी गिरावट देखने को मिली है. बुधवार सुबह करीब 11.48 बजे बीएसई पर स्टॉक 7.82 फीसदी टूटकर 149 रुपए के निचले स्तर पर आ गया.

 

बैंकों के लिए बड़ी मुसीबत बन सकता है मामला

दरअसल, वर्तमान मेें देेश में पहले से ही सरकारी बैंक एनपीए की समस्‍या से जूझ रहे हैं. ऐसे में इस तरह के बड़े स्तर पर फ्रॉड के मामले बैंकों के लिए नई मुसीबत बन सकते हैं. सिर्फ दिसंबर तिमाही में बैंकों का एनपीए 34.5 फीसदी बढ़ गया है.

रेटिंग एजेंसी इकरा की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि एसेट क्वालिटी को लेकर बैंकों की समस्या अभी हल होती नहीं दिख रही है. रिपोर्ट में कुल 30 बड़े बैंकों के तिमाही नतीजों को आधार बनाया गया. इसमें 17 प्राइवेट बैंक और 13 सरकारी बैंक के नतीजे शामिल हैं.