1 जुलाई से Unlock 2.0 : आपके शहर के लिए क्या हैं सरकार की नई गाइडलाइंस, सब यहां जानें

0
131

सरकार ( india govt ) ने सोमवार को अनलॉक के दूसरे चरण ( Unlock 2.0 ) के लिए नए दिशा-निर्देश जारी किए। आगामी 1 जुलाई से लागू होने वाले Unlock 2.0 के तहत विभिन्न गतिविधियों को चरणबद्ध तरीके से फिर से शुरू करने प्रक्रिया का विस्तार होगा। इसके अंतर्गत अंशकालिक ढंग से घरेलू विमान सेवा और यात्री ट्रेनों का संचालन शामिल है। जबकि तमाम क्षेत्रों के लिए लॉकडाउन ( coronavirus lockdown ) लागू रहेगा।

गृह मंत्रालय ( Ministry of Home Affairs ) द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया कि राज्यों के साथ व्यापक विचार-विमर्श के बाद यह निर्णय लिया गया है कि स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान 31 जुलाई तक बंद रहेंगे। मंत्रालय ने आगे कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों के प्रशिक्षण संस्थानों को 15 जुलाई से कार्य करने की अनुमति दी जाएगी और इस संबंध में मानक संचालन प्रक्रिया को कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग द्वारा जारी किया जाएगा।

कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन 31 जुलाई तक लागू रहेगा और केवल आवश्यक सेवाओं को ही इन इलाकों में अनुमति दी जाएगी। रात के कर्फ्यू ( night curfew ) की समयसीमा में और ढील दी गई है और रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू लागू रहेगा।

क्षेत्र के आधार पर दुकानों में एक बार में 5 से अधिक व्यक्ति पहुंच सकते हैं। हालांकि, उन्हें पर्याप्त शारीरिक दूरी बनाए रखनी होगी। रात्रि कर्फ्यू में छूट इसलिए दी गई है ताकि कई शिफ्ट्स में औद्योगिक इकाइयों के निर्बाध संचालन के साथ ही स्टेट व नेशनल हाईवे पर लोगों की आवाजाही, माल की ढुलाई और बसों, ट्रेनों और हवाई जहाजों से उतरने के बाद व्यक्तियों की अपने गंतव्य तक पहुंच आसान सके।

घरेलू उड़ानों और यात्री ट्रेनों को पहले से ही सीमित ढंग से संचालन अनुमति दी गई है। इनके संचालन को और अधिक विस्तृत रूप से आगे विस्तारित किया जाएगा। वंदे भारत मिशन के तहत सीमित तरीके से यात्रियों को अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा की अनुमति दी गई है। आगे की शुरुआत सोच समझकर की जाएगी।

वहीं, सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक और धार्मिक समारोह के साथ ही इनमें आने वाले बड़ी संख्या में आगंतुकों पर पहले की ही भांति पाबंदी रहेगी।

Unlock 2.0 के लिए नए दिशानिर्देशों की मुख्य विशेषताएं

  • घरेलू उड़ानों और यात्री ट्रेनों को पहले से ही सीमित तरीके से नुमति दी गई है। आने वाले वक्त में इनके संचालन को और अधिक विस्तृत रूप से बढ़ाया जाएगा।
  • रात्रिकालीन कर्फ्यू की समयसीमा में और ढील दी जा रही है और रात 10 बजे से सुबह 5.00 बजे तक कर्फ्यू लागू रहेगा।
  • क्षेत्र के आधार पर दुकानों में एक बार में पर्याप्त शारीरिक दूरी के साथ 5 से अधिक व्यक्ति हो सकते हैं।
  • केंद्र और राज्य सरकारों के प्रशिक्षण संस्थानों को 15 जुलाई 2020 से कार्य करने की अनुमति दी जाएगी।
  • राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के साथ व्यापक परामर्श के बाद यह निर्णय लिया गया है कि स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान 31 जुलाई, 2020 तक बंद रहेंगे।
  • वंदे भारत मिशन के तहत सीमित तरीके से यात्रियों की अंतर्राष्ट्रीय हवाई यात्रा की अनुमति दी गई है।
  • कंटेनमेंट जोन के बाहर निम्नलिखित को छोड़कर सभी गतिविधियों की शुरुआत की अनुमति दी जाएंगी:
    मेट्रो रेल।
    • सिनेमा हॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल और ऐसे स्थान।
      सामाजिक/राजनीतिक/खेल/मनोरंजन/शैक्षणिक/सांस्कृतिक/धार्मिक कार्य और अन्य बड़ी मंडलियां।
    • हालात के मूल्यांकन के आधार पर इन्हें खोलने के लिए तिथियां अलग से तय की जाएंगी।
  • वहीं, 31 जुलाई, 2020 तक कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन को सख्ती से लागू किया जाएगा।
  • स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (MOHFW) द्वारा जारी दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए COVID-19 के प्रसार को रोकने के लिए राज्य/केंद्रशासित प्रदेश सरकारों द्वारा कंटेनमेंट जोन को सावधानीपूर्वक सीमांकित किया जाना आवश्यक है। कंटेनमेंट ज़ोन के भीतर सख्त परिधि नियंत्रण बनाए रखा जाएगा और केवल आवश्यक गतिविधियों की अनुमति दी जाएगी।
  • ये कंटेनमेंट जोन संबंधित जिला कलेक्टरों की वेबसाइट पर और राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा अधिसूचित किए जाएंगे और जानकारी भी MOHFW के साथ साझा की जाएगी।
  • इन जोन में गतिविधियों की निगरानी राज्य/संघ राज्य क्षेत्र के अधिकारियों द्वारा कड़ाई से की जाएगी और इन क्षेत्रों में रोकथाम के उपाय से संबंधित दिशानिर्देशों को सख्ती से लागू किया जाएगा।
  • MOHFW इन जोन के उचित परिसीमन और रोकथाम उपायों के कार्यान्वयन की निगरानी करेगा।