हवाई जहाज के बाथरूम की गंदगी जाती है कहां, शर्तिया आपको नहीं होगा पता !

0
360

एक सामान्य व्यक्ति हवाई जहाज में सफर की तमन्ना रखता हैं क्योंकि एक सामान्य व्यक्ति के लिए हवाई जहाज का सफर करना थोड़ा खर्चीला लगता हैं| दरअसल हवाई जहाज से सफर करने में पैसा थोड़ा ज्यादा लगता हैं इसलिए सामान्य व्यक्ति बस या फिर ट्रेन से ही सफर करते हैं| ऐसे मे हर कोई ट्रेन के टॉयलेट की गंदगी के बारे में वाकिफ होता हैं कि उसकी गंदगी ट्रेन के ट्रैक पर ही चली जाती हैं लेकिन हर व्यक्ति के मन में एक सावल जरूर उठता हैं कि आखिर हवाई जहाज के टॉयलेट की गंदगी कहाँ जाती होगी क्योंकि वो हवा में उड़ता हैं और उड़ते हुये उसके टॉयलेट की गंदगी नीचे गिरेगी नहीं फिर उसके टॉयलेट की गंदगी कहाँ जाती होगी| ऐसे में आज हम आपको इस सवाल का जवाब देते हैं और आपको बताते हैं कि हवाई जहाज के टॉयलेट की गंदगी कहाँ जाती हैं|

दरअसल बहुत लोग सोच रहे होंगे कि हवाई जहाज के गंदगी को हवा में या फिर जमीन पर निकाली जाती होगी लेकिन आपको बता दें कि ऐसा नहीं होता हैं बल्कि हवाई जहाज में एक 200 गैलन का एक टैंक होता हैं और यात्रियों का मल-मूत्र उसी टैंक में इकट्ठा होता हैं| आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पिछले 30 सालों से हवाई जहाज में वैक्यूम टॉयलेट का इस्तेमाल किया जा रहा हैं| इस वैक्यूम टॉयलेट में ऐसी व्यवस्था होती हैं जो पानी को एक तरफ और ठोस मल को एक तरफ यानि दोनों को अलग कर देती हैं और फिर मल जहाज में निचे लगे हुए 200 लीटर टैंक के अंदर मिल जाता है|

असल में देखा जाये तो यह बात बहुत ही कम लोगों को पता होती है की यह 200 लीटर का टैंक हर हवाई उडान के बाद एयरपोर्ट पर खोला जाता है और उसको खाली कर दिया जाता है| सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि यह टैंक बाहर की तरफ खुलता है और इस कार्या को एयरपोर्ट पर तैनात कंपनी के कर्मचारी बहुत ही तेज़ी से करते है, इसकी सफाई कर्मचारी गण हर हवाई अड्डे पर करते हैं। जिन्हें अच्छी सैलरी दी जाती है। बता दें कि हवाई जहाज जब भी उड़ान भारती हैं तो उसके हर एक उड़ान के बाद उसकी जांच-पड़ताल की जाती हैं, ताकि कभी भी भविष्य में प्लेन क्रैश होने का डर ना रहे क्योंकि हर एक उड़ान के बाद हवाई जहाज में कुछ ना कुछ समस्या आ ही जाती हैं|

जिसे एयरपोर्ट के कर्मचारी जांच करके पता लगाते हैं और उड़ान से पहले उसकी सर्विसिंग किया जा सके और इस दौरान ही हवाई जहाज के टॉयलेट की सफाई की जाती हैं| बता दें कि उड़ान भरते बहुत सारी बातों का ध्यान रखना पड़ता हैं क्योंकि उड़ान भरने के बाद कुछ खराबी जहाज में आ जाए तो सबके जान पर बन आती हैं क्योंकि हवा में कोई किसी की मदद नहीं कर सकता हैं| हालांकि हवाई जहाज के टॉयलेट हमेशा साफ-सुथरा रहते हैं|