हमेशा लाल होता है घरेलू गैस सिलेंडर का रंग, एक नहीं बल्कि दो हैं कारण

0
45

गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता है कई बार आपके मन में ये सवाल जरुर आया होगा और आज हम आपको इसी बारे में बताने जा रहे हैं. पहले के जमाने में जहां खाना बनाने के लिए लकड़ी के चूल्हे का इस्तेमाल किया जाता था. जिससे काफी प्रदूषण भी होता था लेकिन जैसे जैसे तकनीक में विकास हुआ मानव ने ऐसी गैस की खोज कर ली जो बिना किसी धुंए के और कम प्रदूषण किये आराम से जलती है. इस गैस की सहायता से खाना बनाना पहले की तुलना में काफी आसान हो गया है. अब लगभग सभी जगह खाना बनाने के लिए इस एलपीजी गैस का इस्तेमाल किया जा रहा है. इस गैस के उपयोग करने के कई फायदे हैं यह समय और मेहनत दोनों बचाती है. इसलिए ज्यादातर लोग खाना पकाने के लिए एलपीजी का गैस का इस्तेमाल करते हैं.

देश में कई कंपनी हैं जो एलपीजी गैस उपलब्ध करा रही हैं भारत सरकार भी लोगो को एलपीजी गैस का उपयोग करने के लिए प्रेरित कर रही है जिससे लकड़ी के चूल्हे से वातावरण में हो रहे प्रदूषण को कम किया जा सके. वर्तमान में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसने गैस सिलेंडर नहीं देखा होगा. गैस सिलेंडर को देखने के बाद एक ही सवाल उठता है कि आखिर गैस सिलेंडर रंग रेड क्यों होता है इसे किसी दूसरे कलर में क्यों नहीं रंगा जाता है. देश में कई कंपनियां है और सभी के एलपीजी सिलेंडर लाल रंग से ही रंगे हुए हैं.

एलपीजी गैस सिलेंडर को लाल रंग से रंगने के दो मुख्य कारण है पहला यह है कि लाल रंग खतरे का संकेत होता है चूँकि खाना पकाने वाले गैस सिलेंडर में एलपीजी गैस होती है जो अत्यधिक ज्वलनशील होती है. भले ही एलपीजी गैस खाना पकाने में मदद करती है लेकिन यह किसी खतरे से कम नहीं है. एलपीजी गैस बहुत जल्दी आग पकड़ लेती है. ऐसे में एलपीजी गैस को सावधानीपूर्वक ही इस्तेमाल करना चाहिए जिससे इसके कारण होने वाले बड़े हादसे से बचा जा सके.

दूसरा कारण एलपीजी गैस की पहचान करना है आपको बता दे कि विभिन्न गैसों के सिलेंडर को अलग अलग रंगों से रंगा जाता है जैसे ऑक्सीजन गैस के सिलेंडर को सफ़ेद कलर से, कार्बन डाईऑक्साइड गैस के सिलेंडर को ग्रे कलर से, नाइट्रोजन गैस के सिलेंडर को काले रंग से, हीलियम गैस के सिलेंडर को भूरे रंग से और नाइट्रस ऑक्साइड गैस के सिलेंडर को नीले रंग से रंगा जाता है. ऐसे में रंग को देखकर पता चल जाता है कि सिलेंडर में कौन सी गैस भरी हुई है. एलपीजी गैस को रेड कलर के सिलेंडर में भरा जाता है जिससे कई सिलेंडर के बीच इसकी पहचान आसानी से हो जाए.

तो अब आप जान गए होंगे कि गैस सिलेंडर का रंग लाल क्यों होता है आपको पता चल गया होगा कि इसके दो मुख्य कारण हैं पहला यह रंग खतरे के संकेत का प्रतीक होता है और एलपीजी किसी खतरे से कम नहीं है जबकि दूसरा कारण सिलेंडर में मौजूद गैस की पहचान करना है. अब अगर कोई आपसे इस सवाल को पूछता है तो आप कारण के साथ उसे जबाव दे सकते हैं.

Check Also

पटना बिहार में आरजेडी के सीनियर नेता रघवुंश प्रसाद सिंह का निधन हो गया। वे …