स्कूल टीचर के बेटे की जिंदगी बदल दिए इरफान पठान, सिखाया शतक लगाना, IPL में मिली जगह

0
138

गेंद और बल्ले से बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले इरफान पठान ने भारतीय टीम को कई मैच जिताये, हालांकि उनकी करियर उम्मीद से जल्दी खत्म हो गया, अब रिटायरमेंट के बाद इरफान ऐसे काम में लगे हुए हैं, जिससे भारतीय क्रिकेट की किस्मत चमक सकती है, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा करने के बाद इरफान अब जम्मू-कश्मीर के कोच हैं, उन्होने टीम में एक बेहतरीन बल्लेबाज ढूंढ निकाला है, जिनका नाम है अब्दुल समद, जिन्हें आईपीएल फ्रेंचाइजी सनराइजर्स हैदराबाद ने बीस लाख रुपये में खरीदा है। अब्दुल समद विस्फोटक बल्लेबाजी के साथ ही अपनी लेग स्पिन गेंदबाजी के लिये भी जाने जाते हैं।


पठान को दिया आईपीएल तक पहुंचने का श्रेय
जम्मू-कश्मीर के इस प्रतिभाशाली हरफनमौला ने आईपीएल तक का सफर तय करने का पूरा श्रेय इरफान पठान को दिया है, समद ने कहा कि इरफान पठान के मार्गदर्शन से ही वो आज इतने आगे तक पहुंच सके हैं, समद ने एक निजी न्यूज चैनल से बात करते हुए कहा कि उनके कॉलेज में पठान ने ट्रायल कराया था, जिसके बाद अब्दुल समद को चुना गया।


लंबे हिट्स लगाते हैं
आपको बता दें कि अब्दुल समद मध्य क्रम में बल्लेबाजी करते हैं और उनके अंदर लंबे-लंबे हिट्स लगाने की क्षमता है, लेकिन शुरुआती दिनों में वो 30 से 35 रन बनाने के बाद आउट हो जाते थे, जिसके बाद पठान ने उन्हें अपनी पारी को लंबा खींचने के लिये टिप्स दिया, जिससे उनकी बल्लेबाजी में जबरदस्त निखार आया।


शतक लगा सकते हो
समद ने बताया कि इरफान भाई ने मुझसे कहा कि तुम 30-35 रन बनाने के बाद आउट हो जाते हो, इस पर काम करो, तुम शतक लगा सकते हो, पठान के समझाने के बाद मेरे अंदर गजब का सुधार आया, मालूम हो कि समद ने अब तक घरेलू क्रिकेट में 11 टी-20 मैचों में 240 रन बनाये हैं, साथ ही लिस्ट ए में उनके नाम 8 मैचों में 237 रन है, अब्दुल समद पिछले साल तब सुर्खियों में आये थे, जब उन्होने रणजी ट्रॉफी में असम के खिलाफ तूफानी शतक ठोका था, उन्होने 72 गेंदों में 103 रनों की पारी खेली थी, जिसमें 8 छक्के भी शामिल थे, समद के इस प्रदर्शन के बाद ही सनराइजर्स हैदराबाद ने इस 19 वर्षीय बल्लेबाज पर दांव लगाया।

आईपीएल स्थगित होने से निराश
अब्दुल समद ने कहा कि वो आईपीएल स्थगित होने से थोड़े निराश हैं, वो आईपीएल खेलने के लिये बेकरार थे, लेकिन कोरोना ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया, समय ने कहा कि वो आईपीएल में राशिद खान से बातचीत कर अपनी लेग स्पिन को सुधारना चाहते थे, मालूम हो कि समद के पिता एक स्कूल में फिजिकल टीचर हैं।