Breaking News
Loading...
Home / ख़बर / क्राइम / सिपाहियों संग महिला ने बनाया ब्लैकमेलिंग रैकेट, गिरफ्तारी का डर दिखाकर ऐंठ रहे थे रकम

सिपाहियों संग महिला ने बनाया ब्लैकमेलिंग रैकेट, गिरफ्तारी का डर दिखाकर ऐंठ रहे थे रकम

उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में दो पुलिसकर्मियों द्वारा एक महिला को साथ लेकर बिल्डरों और इंजीनियरों को ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया है। पुलिसकर्मियों की मिलीभगत से महिला बिल्डर और इंजीनियर को बदनामी और गिरफ्तारी का डर दिखाकर 50 हजार से पांच लाख रुपए तक का सौदा करती। इस मामले में दो पुलिसकर्मियों समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

युवती ने रोमांटिक बातें कर बिल्डर के उतरवा दिए कपड़े

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, थाना ताजगंज क्षेत्र में एक मकान के अंदर युवती द्वारा एक कारोबारी को ब्लैकमेल किया जा रहा था। पुलिस की जांच में पता चला है कि युवती ने मकान खरीदने के लिए बिल्डर से संपर्क किया था और उसे ताजगंज क्षेत्र की कॉलोनी में अपने किराए के मकान पर बुला लिया।

इसके बाद जब बिल्डर उसके घर पहुंचा, उस वक्त युवती अकेली थी। इस दौरान युवती ने बिल्डर से रोमांटिक बातें करनी शुरु कर दीं, उसने बिल्डर को बताया कि उसका पति एक फौजी है। वहीं, बिल्डर भी युवती की रोमांटिक बातों में आ गया और उसने अपने कपड़े उतार फेंके। इस दौरान बिल्डर का वीडियो बनाने के बाद शोर मचा दिया गया।

पुलिस के मुताबिक, इसके बाद एक युवक आया जिसने बताया कि वो उसका फौजी पति है। सबसे अहम बात तो यह रही कि इस मामले में बिना पुलिस को सूचित किए ही कुछ ही देर में दो सिपाही वहां आ धमके। आफत तो तब आ गई जब चीख पुकार मचने पर कॉलोनी के लोगों ने भी पुलिस को फोन कर दिया। पुलिस के पहुंचते ही मामला खुल गया। बिल्डर ने बताया कि युवती और उसके साथी मामले को रफा दफा करने के लिए 10 लाख रुपये मांग रहे थे, इस पर शक गहराता चला गया और मामला खुल गया।

पहले से ही बाहर खड़े रहते थे पुलिसवाले

पुलिस का कहना है कि सदर बाजार थाने पर तैनात सिपाही दीपक सोलंकी और पुलिस लाइन में तैनात कवि चौधरी के साथ अपने पति से अलग रह रही महिला और ब्लैकमेलिंग का प्लान तैयार करने वाला इंद्रापुरम निवासी आशीष शर्मा के अलावा महिला का भाई बनकर गिरोह में शामिल रकाबगंज निवासी गौरव ब्लैकमेलिंग का रैकिट चला रहे थे।

युवती सोशल मीडिया पर बिल्डर और इंजीनियर जैसे पैसेवाले लोगों से चैटिं कर उन्हें कमर पर बुलाती और फिर उनके कपड़े उतरवाने के बाद वीडियो बनाती थी। इसके बाद गिरोह का सदस्य आशीष उसका पति बनकर आता था तब महिला का पति फोन कर दोनो पुलिसकर्मियों को बुला लेते। इसके बाद बदनामी और गिरफ्तारी का डर दिखाकर उनसे 50 हजार से पांच लाख रुपए तक ऐंठे जाते थे।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com