सावन के महीने में जप लें शिव जी का ये शक्तिशाली मंत्र, आर्थिक तंगी समेत दूर होंगे ये 10 कष्ट

0
68

 

सावन ( sawan month ) के पवित्र महीने में शिव जी का ध्यान करने से व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है। इससे व्यक्ति की आर्थिक दिक्कतें दूर होने के साथ नौकरी आदि में आ रही बाधाएं भी दूर होती हैं। अगर सावन माह में शिव जी के एक चमत्कारिक मंत्र का जाप किया जाए तो भक्त की किस्मत पलट सकती है। तो कौन-सा है वो मंत्र और कैसे करें इसका जाप आइए जानते हैं।

1.सावन महीने में शिव के महामृत्युंजय मंत्र का जाप सबसे ज्यादा लाभकारी होता है। पंडित दीनानाथ शुक्ला के अनुसार ॐ ह्रौं जूं सः। ॐ भूः भुवः स्वः। ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्‌। उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात्‌। स्वः भुवः भूः ॐ। सः जूं ह्रौं ॐ॥ मंत्र का 108 बार जप करने से व्यक्ति के सारे कष्ट दूर हो सकते हैं।

2.अगर रुद्राक्ष की माला से महामृत्युंजय मंत्र का जाप किया जाए तो व्यक्ति की आयु बढ़ सकती है। इससे दुर्घटना का खतरा कम होगा।

3.कुश के आसन पर बैठकर मंत्र को पढ़ने से मानसिक शांति मिलती है। इससे परेशानी, चिंता आदि से भी बचाव होता है।

4.मंत्र पढ़ने से पहले हाथ में जल लेकर संकल्प करने से मंत्र का दोगुना फल प्राप्त होता है। इससे मंत्र सिद्ध होता है।

5.अगर कोई बीमार है तो उसे चंदन की माला से महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए। साथ ही प्रत्येक मंत्र के बाद शिव जी को प्रणाम करना चाहिए।

6.महामृत्युंजय मंत्र का जाप गुप्त तरीके से करने पर ज्यादा लाभ होता है। इसलिए इसे मन में पढ़ें। साथ ही माला को किसी थैले में रखें।

7.महामृत्युंजय मंत्र के जाप की शुरुआत सावन के सोमवार से करने पर ज्यादा लाभकारी होता है। क्योंकि ये दिन भगवान शिव का माना जाता है।

8.अगर आपके पास पैसे नहीं टिकते हैं तो महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें और शिव जी को चढ़ाएं हुए फूल एक कागज में लपेटकर तिजोरी में रख दें। इससे भोलेनाथ की कृपा होगी।

9.महामृत्युंजय मंत्र के जाप के समय एक कटोरी में पानी रखें। अब एक माला खत्म होने पर उस जल में फूंक मारे। अब पूजन के बाद इस जल को घर के कोनों में छिड़क दें। इससे नकारात्मकता दूर होगी।

10.जिन लोगों की नौकरी या बिजनेस में तरक्की नहीं हो रही है। उन्हें महामृत्युंजय मंत्र का जाप नियमित रूप से करना चाहिए। साथ ही मोती रत्न धारण करना चाहिए।