उत्तर प्रदेशख़बर

सबसे नया सर्वे: महागठबंधन के बिना भी बीजेपी यूपी में पस्त, होगा भारी नुकसान

इस साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की सबसे बड़ी अग्निपरीक्षा होनी है. ऐसा इसलिए क्योंकि इसी साल चंद महीनों बाद लोकसभा के चुनाव होंगे. ऐसे में क्या इन चुनावों में भारतीय जनता पार्टी 80 सीटों वाले उत्तर प्रदेश में 2014 वाला प्रदर्शन दोहरा पाएगी? ये सवाल हर किसी के मन में है. इसी सवाल का जवाब तलाशने और जनता का मूड भांपने के लिए इंडिया टीवी-सीएनएक्स ने एक सर्वे किया.

2014 में भाजपा गठबंधन ने 80 में से 73 सीटें अपने नाम की थीं. लेकिन बाद में हुए उपचुनावों में उसे 3 सीट गंवानी पड़ी. इंडिया टीवी-सीएनएक्स के सर्वे के अनुसार यदि आज चुनाव हो जाए तो भाजपा को 31 सीटों का नुकसान हो सकता है.

ओपिनियन पोल के मुताबिक़, उत्तर प्रदेश में बीजेपी को लोकसभा चुनाव मे 40 सीटें मिल सकती हैं. इसके अलावा बहुजन समाज पार्टी को 15 और समाजवादी पार्टी को 20 मिल सकती हैं, जबकि कांग्रेस को सिर्फ़ 2 सीटें मिलती दिखाई गई हैं. अन्य दलों को कुल मिला कर 3 सीटें मिल सकती हैं.

देश के सबसे बड़े राज्य में बीजेपी को 37 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं जबकि बीएसपी को 19 और सपा को 23 फ़ीसदी वोट मिलने की संभावना है. यहां कांग्रेस को सिर्फ़ 10 प्रतिशत वोटरों का समर्थन मिलने की संभावना है.

खास बात ये है कि सर्वे सपा-बसपा के अलग अलग चुनाव लड़ने की स्थिति को ध्यान में रखकर किया गया है. जाहिर है, अगर सपा-बसपा का गठबंधन होता है तो भाजपा को और ज्यादा नुकसान झेलना पड़ सकता है.

Back to top button