उत्तर प्रदेशख़बर

सन्न रह गए अखिलेश-योगी, शिवपाल ने चल दी सबसे बड़ी गोटी

मुलायम से राजनीति का ककहरा सीखने वाले खांटी समाजवादी नेता शिवपाल सिंह यादव के मन में क्या चल रहा है, इसे भांपना अगर नामुमकिन नहीं तो बेहद मुश्किल जरूर है. समाजवादी पार्टी से अलग होकर शिवपाल ने जब समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन किया तो माना गया कि इससे अखिलेश यादव को नुकसान होगा और बीजेपी को फायदा. लेकिन अब खबर है कि शिवपाल ने एक ऐसा दांव चल दिया है जिससे अखिलेश के साथ-साथ बीजेपी के भी होश उड़ गए हैं.

पिछले कुछ घंटों से लखनऊ के सियासी गलियारों में एक नई चर्चा छिड़ी हुई है. चर्चा यह है कि शिवपाल ने यूपी में गठबंधन के लिए बीएसपी से संपर्क साध लिया है. समाजवादी पार्टी से अलग होकर शिवपाल का साथ देने वाले एक कद्दावर नेता ने इसकी पुष्टि भी कर दी है.

अब अगर शिवपाल और मायावती का गठबंधन हो गया तो यह केवल अखिलेश और कांग्रेस के लिए ही नहीं बल्कि सीएम योगी के नेतृत्व में फिर से यूपी जीतने की ताक में बैठी बीजेपी के लिए भी बड़ा झटका होगा.

ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि शिवपाल को यादव और ओबीसी वोटर्स के बीच काम करने और संगठन बनाने का कई दशकों का अनुभव है. बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के नेता ओमप्रकाश राजभर ने भी उनकी तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाया है. ऐसे में अगर उन्हें मायावती के दलित वोटर्स का साथ मिल जाता है तो वह यूपी की राजनीति में बड़ा खेल कर सकते हैं.

शिवपाल के पास यादव और अन्य ओबीसी वोट, राजभर का अपना वोटबैंक और मायावती का दलित वोट बैंक. अगर ये सारे साथ आ जाएं तो यूपी की राजनीति में एक घातक कॉम्बिनेशन तैयार हो जाएगा. इसकी मार से न तो कांग्रेस अखिलेश बच पाएंगे और न ही बीजेपी को इसकी कोई काट मिलेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button