सनसनीखेज खुलासा: आपकी पर्सनल बातें सुनता था ऐपल !

0
244

नई दिल्ली : प्रीमियम आईफोन और डिवाइसेज बनाने वाली टेक कंपनी ऐपल पर पिछले साल यूजर्स की पर्सनल बातें सुनने का आरोप लगा था और ऐपल ने अपनी गलती मानी थी। इस बात का खुलासा करने वाला एक एक्स ऐपल कॉन्ट्रैक्टर अब दुनिया के सामने आया है और उसने ऐसा करने के लिए ऐपल पर कार्रवाई की मांग की है। थॉमल ले बोनिएक ने ऐपल के असिस्टेंट Siri से जुड़े ‘ग्रेडिंग प्रोजेक्ट’ पर काम किया था, जिसमें यूजर्स को ऑडियो सुनना भी शामिल था।

पिछले साल ले बोनिएक नाम के इस कॉन्ट्रैक्टर ने The Guardian को बताया था कि ऐपल के साथ काम करने के दौरान उन्होंने यूजर्स की पर्सनल और कई बार इंटीमेट ऑडियो रिकॉर्डिंग्स सुनीं। इन रिकॉर्डिंग्स में मेडिकल डिस्कशंस, क्रिमिनल ऐक्टिविटी, सेक्स और ऑफिशल बिजनस टॉक तक शामिल थीं। पिछले साल यह खुलासा करने के बावजूद उन्होंने अपनी पहचान छुपाई थी लेकिन अब वह खुद दुनिया के सामने आए हैं और ऐपल पर कोई ऐक्शन ना लिए जाने से नाराज हैं।

ऐपल ने मानी थी गलती
ऐपल के प्रोजेक्ट का मकसद दरअसल वर्चुअल वॉइस असिस्टेंट ‘Siri’ के यूजर एक्सपीरियंस को बेहतर बनाना था। सामने आया था कि ऐसा करने के लिए ऐपल ने प्रोजेक्ट से जुड़े लोंगो को यूजर्स की पर्सनल रिकॉर्डिंग्स सुनने का काम सौंपा था। ऐपल की ओर से जुलाई, 2019 में पूरी बात सामने आने के बाद अपनी गलती मानी गई थी। ऐपल ने कहा था कि बिना यूजर की पहचान जाहिर किए siri को दिए जाने वाले कमांड्स का हिस्सा एनालाइज किया जा रहा था लेकिन अब इस प्रोजेक्ट को बंद कर दिया गया है।

ओपन लेटर में की शिकायत
ले बोनिएक की ओर से अब यूरोपियन डेटा प्रटेक्शन रेग्युलेटर्स को एक ओपन लेटर भेजकर ऐपल के खिलाफ ऐक्शन लेने की मांग की गई है। लेटर में उन्होंने लिखा है, ‘यह चिंताजनक है कि ऐपल (और सिर्फ ऐपल ही नहीं) बार-बार डेटा कलेक्शन के लिए यूजर्स के अधिकारों का हनन करता है और इनकी अनदेखी करता है।’

उन्होंने कहा कि ऐपल रोज ऐपल यूजर्स की ओर से की जानें वालीं हजारों रिकॉर्डिंग्स सुन रहा था और इन्हें iPhone से लेकर iPad और Apple Watches तक से किया गया था और कंपनी की जवाबदेही तय होनी चाहिए।