शिवपाल बिगाड़ रहे अखिलेश का खेल, इस प्लान से साइकिल को करेंगे फेल !

0
20

लोकसभा चुनाव 2019 में अब कुछ ही महीने बाकी रह गए हैं। ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियां चुनाव की तैयारियों के साथ ही सीटों के बटवारें में जुट गई हैं। वहीं, उत्तर प्रदेश की सियासत में शिवपाल यादव ने सियासी तड़का लगाकर माहौल को और गर्मा दिया है।शिवपाल यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी जन अभियान चला रही है, जिससे अन्य पार्टियों में खलबली मच गई है।

समाजवादी पार्टी ही नहीं बीजेपी को भी सता रहा डर

सूत्रों का कहना है कि गाजियाबाद लोकसभा क्षेत्र की सीट हमेशा से भाजपा के पास ही रही है लेकिन शिवपाल यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के आ जाने से बीजेपी कार्यकर्ताओं में बेचैनी बढ़ गई है। यही नहीं, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी द्वारा केंद्र और राज्य में शासन कर रहे भाजपा सरकार की नाकामियों को भी जनता के समक्ष उजागर किया जा रहा है।

इस कारण आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर गाजियाबाद की राजनीति गर्मा गई है। उधर, प्रसपा के आने से कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में भी बेचैनी देखी जा रही है। अभी तक जहां कांग्रेस का सीधा मुकाबला भाजपा से होता था वहीं, अब प्रसपा के आने से उन्हें रणनीति में बदलवा करना पड़ रहा है।

समाजवादी पार्टी के लिए खतरा बन सकती है प्रसपा

सूत्रों का यह भी कहना है कि शिवपाल यादव की पार्टी जमीनी स्तर पर लोगों तक पहुंचकर पूरे जोर शोर से जन अभियान चला रही है, जिससे अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी को भी खतरा साबित हो सकता है। बीते दिनों में  ख़बरों के मुताबिक शिवपाल यादव की पार्टी अखिलेश यादव के लिए भी खतरा साबित हो सकती है।

सपा से अलग होकर शिवपाल यादव ने अपनी अलग पार्टी बनाई है, जिससे अलग-अलग पार्टी के नेता और मंत्री जुड़ रहे हैं। बीते दिनों में समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री शिव कुमार बेरिया ने सपा का दामन छोड़ शिवपाल की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए।