धर्म

शनिवार विशेष : आज करके देखिए ये उपाय, प्रसन्न शनिदेव देंगे धन लाभ और वैभव

सौरमंडल के सभी 9 ग्रह हमारे जीवन को समय-समय पर प्रभावित करते रहते हैं। ज्योतिष के अनुसार जिस पल हम जन्म लेते हैं उस पल के आधार पर ग्रह-नक्षत्र मिलकर हमारी कुंडली का निर्माण करते हैं। यह कुंडली हमारे जीवन का आंकलन करती रहती है। ज्योतिष शास्त्र के आधार पर सभी ग्रहों की अपनी-अपनी विशेषता, पसंद-नापसंद और स्वभाव होता है। वैसे तो सभी नौ ग्रह अपने-अपने हिसाब से जातक के लिए विशेष होते हैं, लेकिन जब शनि ग्रह की बात आती है तो सभी एकदम सचेत हो जाते हैं।

मान्यता है कि हनुमानजी के भक्तों को शनि के अशुभ फलों से मुक्ति मिलती है। इसी वजह से कई लोग शनिवार को हनुमानजी की पूजा करते हैं। ये उपाय हर शनिवार करने से हमारी परेशानियां दूर हो सकती हैं। इन उपाय से भाग्य से जुड़ी परेशानियां दूर हो सकती हैं। यहां जानिए शनिवार को किए जाने वाले छोटे-छोटे उपाय…

1.सूर्यास्त के समय किसी ऐसे पीपल के पास दीपक जलाएं जो सुनसान स्थान पर हो या किसी मंदिर में स्थित पीपल के पास भी दीपक जला सकते हैं। इस उपाय से शनि के कारण धन संबंधी परेशानियां दूर होती हैं।

2. शनिवार को हनुमान मंदिर में तेल अर्पित करें और पूजन करें। शिवजी को नीले पुष्प चढ़ाएं।
3. पीपल को जल चढ़ाएं, तेल का दीपक जलाएं और पांच परिक्रमा करें।
4. शनिवार की सुबह दैनिक कार्यों से निवृत्त होकर तेल का दान करें। इसके लिए एक कटोरी में तेल लें और उसमें अपना चेहरा देखें, फिर तेल का दान किसी सुपात्र व्यक्ति को करें।
5. हनुमानजी को सिंदूर और चमेली का तेल चढ़ाएं। फिर हनुमान चालीसा का पाठ करें।

6. शनिवार की रात में रक्त चंदन से अनार की कलम से ‘ॐ हृीं’  को भोजपत्र पर लिखकर नित्य पूजा करने से विद्या और बुद्धि की प्राप्ति होती है। यह टोटका पढ़ाई करने वाले बच्चों के लिए लाभदायक होता है।
7. शनिवार को काले कुत्ते, काली गाय को रोटी और काली चिड़िया को दाना डालने से जीवन की रुकावटें दूर होती हैं। यह भी मान्यता है कि शनिवार को तेल से बने पदार्थ गरीबों को खिलाने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं।
8. शनिवार को संध्या काल में अपनी लंबाई के बराबर लाल रेशमी धागा नाप लें। अब इसे जल से धोकर आम के पत्ते पर लपेट दे। इस पत्ते और लपेटे हुए रेशमी धागे को अपनी मनोकामना का ध्यान करते हुए बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। इस उपाय से मनोकामना पूर्ति होती है।
9. शनि की साढ़ेसाती और ढय्या या अन्य कोई शनि दोष हो तो शनिवार को किसी भी पीपल के पेड़ के नीचे दोनों हाथों से स्पर्श करें। स्पर्श करने के साथ पीपल के पेड़ की पांच परिक्रमा करें और ‘ॐ शं शनैश्चराय नम:’ मन्त्र का जप करें।
10. शनि देव को प्रसन्न करने के लिए हनुमान जी की पूजा करना भी अच्छा उपाय है। प्रत्येक शनिवार को हनुमान चालीसा का एक बैठक में पांच बार पाठ करें। ऐसा करने से आप विपरीत परिस्थिति से सहेजता से निकल आते हैं।

Back to top button