वायरल पड़ताल : चीन में बांटे जा रहे कुरान, कोरोना को खत्म करेगा इस्लाम?

0
47

कोरोना वायरस से भारत में 15 लोगों की मौत हो चुकी है और वहीं संक्रमित हुए लोगों का आंकड़ा 650 के पार पहुँच गया है। फिलहाल, सभी के मन में डर है क्योंकि वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस ने तबाही मचा रखी है। इसी के साथ सोशल मीडिया पर भी लोग कई खबरें शेयर कर रहे हैं। जिन खबरों में से ज़्यादातर फेक ही हैं लेकिन, लोग इसे धड़ल्ले से शेयर कर रहे हैं।

हाल ही में सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब ट्रेंड कर रही है जिसमें दावा किया जा रहा है कि चीन में सरकार ने कुरान पर जो प्रतिबंध लगाया था वो कोरोनो वायरस के चलते हटा दिया गया है और लोग खुश हैं क्योंकि, अब वो कुरान पढ़ पा रहे हैं। वीडियो में साफ-साफ लोगों की खुशी देखी जा सकती है। सभी लोग किताब पर टूट पड़ते हैं और उसे अपने हाथों में लेकर काफी खुश दिखाई दे रहे हैं।

ट्विटर पर इस वीडियो को काफी लोगों ने शेयर भी किया और वीडियो को व्युज़ भी खूब मिले। सभी लोगों ने एक ही दावा किया कि चाइना में लोग कुरान पढ़कर बेहद खुश हैं।

सिर्फ ट्विटर पर ही नहीं, इसे फेसबुक पर भी शेयर किया गया। शायद ही ऐसा कोई सोशल मीडिया माध्यम बचा हो जहां इस वीडियो को पोस्ट नहीं किया गया।

Last ban Holy #Quran in #China. After now China people Muslim take to read Holy Quran

Gepostet von Rose News Tv WASIM SYED am Samstag, 7. März 2020

वीडियो के इतना वायरल होने के बाद कई सारे सवाल बनते हैं कि क्या ये वीडियो चीन का ही है? कब की है ये वीडियो? क्या इसका कुरान या फिर कोरोना वायरस से कोई लेना-देना है?

जब हमने इस वीडियो की जांच शुरू की तो इसे पहले InVID एप्लिकेशन के जरिए की-फ्रेम्स में तोड़ा। इसके बाद सर्च करने पर हमें यूट्यूब पर अपलोड की गयी एक वीडियो मिली। यह वही वीडियो थी जो अभी हाल-फिलहाल में सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। नीचे दी गई वीडियो देखिए। इस वीडियो को यूट्यूब पर 4 मार्च, 2014 को अपलोड किया गया है। इसका टाइटल है,

“चीनी ईसाइयों को उनकी पहली बाइबल मिली”

इसके बाद हमें चर्च लीडर्स पर एक आर्टिकल भी मिला, जिसका स्क्रीनशॉट हमने नीचे अटैच किया हुआ है। जिसका टाइटल है-

पहली बार चीनी ईसाईओं को उनकी बाइबल मिली

ऊपर दिए गए वीडियो और आर्टिकल से यह साफ है कि वीडियो का हाल फिलहाल से कोई संबंध नहीं है। वीडियो पुराना है और इसे जिस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है वह गलत है। वीडियो में कुरान की जगह बाइबल है। यह पुष्टि हम ऊपर दिए गए वीडियो और आर्टिकल के आधार पर कर रहे हैं। आप सभी किसी भी दावे को सच मानने से पहले एक बार उसके बारे में अपने स्तर पर जांच जरूर करें तभी भरोसा करें। ऐसे ही किसी भी व्हाट्सऐप फॉरवर्ड या फिर सोशल मीडिया पर शेयर की गई बात को आगे न पहुंचाएं।