जरा हट के

लड़कियों के रूम से आ रही थी अजीबगरीब आवाज, जब खोला दरवाजा तो दिखा..!!

आज भले ही सरकार लड़कियों की सुरक्षा के लिए लाख दावे कर लें लेकिन सच्चाई क्या वो आप देख ही रहे हैं। इतनी सुरक्षा के बाद जब लड़कियां घर में सुरक्षित रह पाती हैं तो बाहर की तो उम्मीद ही छोड़ दो। जब देश मेंं लड़कियों के साथ होने वाली ऐसी घटनाएं सुनने को मिलती हैं तो एक बार फिर देश शर्म से झुक जाता है आज हम आपको लड़कियों के हॉस्टल की खबर बताने जा रहे हैं जहां उनके कमरों से अजीबोगरीब आवाजें आ रही थी। ऐसे में जब सरकारी अफसरों ने दरबाजा खोला तो आंखें फटी की फटी रह गईं।

मामला जनकपुर विकासखंड के आदिवासी कन्या आश्रम का है जहां हॉस्टल में लड़कियों के साथ हो रहे प्रताड़ना के बाद जब शिकायत एसडीएम तक पहुंची तो एसडीएम ने आश्रम का जांचबीन की और जैसे ही वो हॉस्टर के कमरे तो पहुंचे कि वहां उन्हें कुछ आवाजे सुनाई दे रही थी एसडीएम ने देखा कि दरबाजा बाहर से बंद था ताकि किसी आवाज बाहर निकल न सके।

जब एसडीएम ने दरबाजा खोला तो उनके होश उड़ गये उन्होंने देखा कि कमरे में कई सारी लड़कियां को रोते-रोते बुरा हाल था। एसडीएम ने हॉस्टल में लड़कियों के साथ ऐसा बर्ताब देखते हुए अधिक्षिका को पद से बर्खास्त कर दिया। जब लड़कियां हॉस्टल के चुंगल से निकली तब उन्होंने एसडीएस को बताया कि अधीक्षिका रूफीना खलको उनके साथ नौकरों से भी बत्तर व्यवहार करती हैं।

Back to top button