लवर संग होटल में इस हालत में मिला पेशी पर आया क्रिमिनल, देखें VIDEO

0
41

हरदोई जेल में बंद हत्यारोपी यूपी के गोरखपुर में एक होटल में अपनी लवर संग आपत्तिजनक हालत में मिला. जानकारी के लिए बता दे कि पुलिस ने जब होटल में छापा मारा तो उस वक्त हत्यारोपी अपनी लवर संग दूसरे कमरे में था, जबकि पेशी पर लेकर आए सिपाही बगल के कमरे में बदमाश के दोस्तों संग दावत उड़ा रहे थे. जिसका एक विडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है. बता दें हरदोई जेल में बंद कुख्यात बंदी कामेश्वर सिंह उर्फ़ डब्लू को पुलिस देवरिया कोर्ट में पेशी पर लेकर आई थी. सोमवार को गोरखपुर पुलिस ने रेलवे स्टेशन के सामने से एक होटल में हत्यारोपी को उसकी प्रेमिका तीन दो साथी और तीन सिपाहियों के साथ पकड़ा. लेकिन बाद में लिखा-पढ़ी के बाद छोड़ दिया गया. वहीं, एसपी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि तीनों सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया गया है, और उनके खिलाफ विभागीय जांच की जाएगी।

देवरिया कोर्ट में थी पेशी

तीन हत्याओं का आरोपी है कामेश्वर सिंह

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबुक पुलिस की जानकारी के अनुसार, कामेश्वर सिंह देवरिया के गौरीबाजार थाना क्षेत्र के पथरहट गांव का रहने वाला है. कामेश्वर सिंह के ऊपर गांव के ही रमेश सिंह, अरुण सिंह तथा गोरखपुर के सिंघड़िया निवासी विवेक सिंह की हत्या का आरोपी है। अरुण और विवेक की हत्या में उसे जमानत मिल चुकी है। रमेश सिंह की हत्या में वह अभी भी जेल में है. यह सभी हत्याएं 2010 से 2017 के बीच हुई हैं. बीते दिनों उसे गोरखपुर जेल से हरदोई जेल ट्रांसफर किया गया था.

सोमवार को थी कामेश्वर सिंह की कोर्ट में पेशी 

बता दे रमेश सिंह की हत्या के मामले में बीते सोमवार को हत्यारोपी कामेश्वर सिंह की कोर्ट में पेशी थी। कामेश्वर को हरदोई जेल से पेशी पर देवरिया कोर्ट लाया गया था. हरदोई पुलिस लाइन्स में तैनात सिपाही आनंद सिंह, अभय सिंह और अमन कुमार उसे पेशी पर लेकर आए थे। पेशी के बाद तीनों सिपाही उसे वापस हरदोई लेकर लौट रहे थे। लौटते वक्त तीनों सिपाही उसे गोरखपुर के एक होटल में लेकर पहुंच गए। आरोप है कि कामेश्वर सिंह ने अपने दो साथियों अनिल मौर्य व राधेश्याम की मदद से अपनी प्रेमिका सुषमा को पहले से ही होटल में बुला रखा था। होटल में पहुंचते ही कामेश्वर प्रेमिका के संग एक कमरे में चला गया। बाहर के कमरे में सिपाही और उसके साथी खाना खा रहे थे।

देवरिया के गौरीबाजार थाना क्षेत्र के पथरहट गांव निवासी कामेश्वर सिंह अपने गांव के ही रमेश सिंह और अरुण सिंह तथा गोरखपुर के सिंघड़िया निवासी विवेक सिंह उर्फ विक्की सिंह की हत्या का आरोपी है। अरुण और विवेक की हत्या में उसे जमानत मिल चुकी है हालांकि रमेश सिंह की हत्या में वह वर्तमान में हरदोई जेल में बंद है। सोमवार को रमेश सिंह के केस में वह देवरिया कोर्ट में पेशी पर आया था। हरदोई पुलिस लाइंस में तैनात सिपाही आनंद सिंह, अभय सिंह और अमन कुमार उसे पेशी पर लेकर आए थे।

देवरिया से लौटते समय गोरखपुर के स्टेशन रोड स्थित होटल हॉलिडे में वह पहुंच गया। अपने दो साथियों अनिल मौर्या और राधेश्याम की सहयोग से उसने अपनी प्रेमिका सुषमा सिंह को मिलने के लिए पहले से ही होटल में बुला लिया था। होटल पर पहुंचते ही एक कमरे में प्रेमिका के साथ चला गया जबकि सिपाही व अन्य बाहर बैठकर खाना खाने लगे। पेशी पर आने के दौरान कामेश्वर की मौज-मस्ती के बारे में अरुण सिंह के बेटे दीपक सिंह को जानकारी हो गई थी लिहाजा सोमवार को वह देवरिया से ही उसकी गाड़ी के पीछे लग गया।

गोरखपुर स्टेशन रोड स्थित होटल में पहुंचने पर उसने इसकी सूचना एसएसपी डा. सुनील गुप्ता को दी। उन्होंने कैंट पुलिस को मौके पर भेजा जिसके बाद कामेश्वर सिंह को पुलिस ने होटल के एक कमरे से उसकी प्रेमिका के साथ निर्वस्त्र हाल में पकड़ लिया। पुलिस ने उन सभी को तत्काल हिरासत में ले लिया। हालांकि उनके बालिग होने के नाते लिखापढ़ी करने के बाद तीनों सिपाहियों के साथ सोमवार की शाम को कामेश्वर को हरदोई जेल के लिए रवाना कर दिया। वहीं उसकी प्रेमिका और दोनों साथियों को भी छोड़ दिया गया।