राहुल ने निकाला PK का तोड़, नीतीश के खास को साथ लिया जोड़

30

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने चुनावी रणनीतिकार रहे प्रशांत किशोर को जदयू में शामिल करा कर राजनेता बना दिया. 2015 में प्रशांत किशोर ने महागठबंधन में रहते हुए जदयू के साथ ही राजद व कांग्रेस के लिए काम किया था, पीके ने उत्तरप्रदेश व उत्तराखंड में भी कांग्रेस का प्रचार अभियान संभाला लेकिन वहां वे पूरी तरह नाकाम रहे. लेकिन प्रशांत किशोर को जदयू में शामिल होता देख कांग्रेस ने बड़ा दांव चला है. राहुल गांधी ने 2015 से 2017 तक नीतीश कुमार के चहेते रहे शाश्वत गौतम को कांग्रेस डाटा विश्लेषण सेल का राष्ट्रीय संयोजक बना दिया गया है.

जी, चुनावी रणनीति से पीएम नरेंद्र मोदी व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को मात देकर महागठबंधन को विजयपथ पर लाने वाले प्रशांत किशोर एक बार फिर लोकसभा चुनाव 2019 में नीतीश कुमार की पार्टी जदयू के साथ-साथ एनडीए के चुनावी अभियान की कमान संभालेंगे. इसी बीच कांग्रेस ने भी बड़ा दांव आजमाते हुए प्रशांत किशोर के मुकाबले के लिए अपने योद्धा का चयन कर लिया है.

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस ने शाश्वत गौतम को अहम भूमिका दी है. कांग्रेस आलाकमान राहुल गांधी ने शाश्वत गौतम को कांग्रेस के डाटा एनालिटिक्स डिपार्टमेंट का नेशनल कॉर्डिनेटर बनाया है. कांग्रेस का यह डिपार्टमेंट देशभर में डाटा एकत्रित कर चुनावी रणनीति की दिशा तय करता है.

दिलचस्प बात यह है कि प्रशांत किशोर के नीतीश से अलग होने के बाद शाश्वत गौतम ने ही जदयू मीडिया सेल की कमान संभाली थी. जाहिर है, जदयू की अंदर की हर बात से शाश्वत अच्छी तरह से वाकिफ हैं. इसीलिए  कांग्रेस के इस दांव से जदयू में खलबली मच गई है.