उत्तर प्रदेश

राहुल गांधी के लिए यूपी से आई बढ़िया खबर, साथ देने को तैयार है ये पार्टी

इस साल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सबसे बड़ी अग्निपरीक्षा होनी है. ऐसा इसलिए क्योंकि इसी साल चंद महीनों बाद लोकसभा के चुनाव होंगे. ऐसे में क्या वो इन चुनावों में भारतीय जनता पार्टी और  पीएम नरेंद्र मोदी को रोक सकेंगे, ये सवाल सबके जेहन में है

यूपी में सपा और बसपा ने कांग्रेस के बिना महागठबंधन बनाने की तैयारी की है. जाहिर है, ये बात कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए अच्छी हो नहीं सकती. इसी बीच उनके लिए उत्तर प्रदेश की राजनीति से बड़ी खुशखबरी आ गई है. लोकसभा चुनाव में सबसे महत्वपूर्ण राज्य यूपी में कांग्रेस को एक पार्टी का साथ मिल सकता है. ये पार्टी वैसे तो नई है लेकिन बसपा और सपा के वोटों में सेंध लगा सकती है. इस पार्टी के बड़े नेता ने राहुल गांधी से हाथ मिलाने के संकेत दे दिये हैं.

राहुल गांधी को सबसे बड़ा झटका तब लगा जब मायावती की बसपा और अखिलेश की सपा ने आपस में गठजोड़ करने की कोशिश कर ली है और कांग्रेस को इस गठबंधन में जगह नहीं दी है. इस वजह से कांग्रेस लोकसभा चुनाव में यूपी में कमजोर पड़ गई है जबकि यहां की 80 लोकसभा सीटें बहुत महत्वपूर्ण हैं.

कांग्रेस के लिए यूपी से राहत की खबर आई है. जिस पार्टी ने राहुल गांधी का चुनाव में साथ देने के संकेत दिए हैं वो शिवपाल सिंह यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) है. पार्टी महासचिव ने लखनऊ में 4 जनवरी को भाजपा को रोकने के लिए कांग्रेस के साथ आने के संकेत दिए. शिवपाल की पार्टी में बसपा और सपा के कुछ बागी नेता हैं जो दोनों दलों का खेल बिगाड़ सकते हैं जिससे कांग्रेस को बड़ा फायदा हो सकता है.

Back to top button