छत्तीसगढ़देश

रायपुर : कोरोना संकट के बीच आई गुड न्यूज़, छत्तीसगढ़ में रिकवरी रेट बढ़ा, डेथ रेट घटा

रायपुर. प्रदेश (Corona cases in Chhattisgarh) में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा भले ही 93 हजार पार जा पहुंचा हो, मगर यह भी सच है कि 53 हजार मरीज भी कोरोना (COVID Recovery Rate) को मात दे चुके हैं। सितंबर की शुरुआत में 2 हजार मरीज मिलने शुरू हुए, 12 सितंबर से आंकड़ा 3 हजार पार होना शुरू हो गया और 18 सितंबर को सर्वाधिक 3,842 मरीज मिले।

मगर, बीते एक हफ्ते में रिकवरी रेट (Corona Recovery Rate in Chhattisgarh) (मरीजों के ठीक होने की दर) बढ़ा है, डेथ रेट (Covid Death Rate Chhattisgarh) कम हुआ और और पेंशेट रेट (प्रति 100 जांच में मिलने वाले मरीजों की दर) भी बढ़ा है। जो राहत की खबर जरूर है, मगर इसे बनाए रखने की जरुरत है ताकि स्थिति में सुधार होता चला जाए।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और खुद स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव (CG Health Minister TS Singhdeo) कह चुके हैं कि मरीज मिलेंगे क्योंकि संक्रमण फैला हुआ है। मगर, पहली प्राथमिकता मरीजों को तुरंत इलाज मुहैया करवाना है ताकि डेथ रेट में कमी आ सके।

स्थिति में सुधार की कैसे?
रिकवरी रेट 57.2 प्रतिशत
अगस्त के शुरुआत में प्रदेश का रिकवरी रेट 78.2 प्रतिशत तक था। मगर, 16 अगस्त के बाद मरीजों की संख्या तेजी से बढऩी शुरू हो गई। सितंबर में तो 24 घंटे में 3,842 मरीज तक रिपोर्ट हुए। यही वजह थी कि रिकवरी रेट गिरता हुआ 45 प्रतिशत पर जा पहुंचा। हालांकि डॉक्टरों के मुताबिक अभी मरीजों में वायरस लोड अधिक मिल रहा है। ठीक होने में पहले अधिकतम 10 दिन लग रहे थे, अभी 15-17 दिन तक लग रहे हैं।

डेथ रेट 0.78 प्रतिशत
कोरोना से मरने वालों की संख्या में सितंबर में सबसे ज्यादा इजाफा हुआ। 4 सितंबर तक 377 मरीजों की मौत हुई थी, 22 सितंबर तक 718 मरीज जान गंवा चुके थे। यानी 18 दिन में 341 मरीजों ने अस्पताल के बिस्तर पर, स्ट्रेचर पर अंतिम सांस ली। यही वजह थी कि डेथ रेट 9 प्रतिशत के करीब जा पहुंचा था। मगर वर्तमान में 0.78 प्रतिशत है। मरीजों को ऑक्सीजन, वेंटिलेटर अब मिलने लगे हैं। क्योंकि सुविधाएं बढ़ाई गई हैं।

पेशेंट रेट 100 में 10 मरीज
प्रदेश में 9,58452 संदिग्धों की कोरोना जांच हो चुकी है। सितंबर के शुरुआत में प्रति 100 जांच में 7वां मरीज संक्रमित मिल रहा था, मगर आज स्थिति में सुधार हुआ है। अभी 10वां मरीज संक्रमित पाया जा रहा है।

प्रदेश में 16,000 टेस्ट
एनएचएम कर्मचारियों की हड़ताल की वजह से सैंपलिंग, टेस्टिंग का काम कई जिलों में प्रभावित हो रहा है। 20 सितंबर को 11,246, 21 सितंबर को 12,602 और 22 सितंबर को 16,149 कोरोना सैंपल की जांच हुई। जबकि बीते हफ्ते में टेस्टिंग 20 हजार तक जा पहुंची थी। हालांकि अब विभाग ने अपने नियमित कर्मचारियों को इन दोनों महत्वपूर्ण काम में लगाया है। स्थिति में सुधार हुआ है।

Back to top button