राजस्थान में कोरोना ने पार किया 10 हजार का आंकड़ा, आज तो कहर ढा दिया !

0
114

जयपुर. राजस्थान में संक्रमण की रफ्तार बढ़ती जा रही है। राज्य में शुक्रवार को मरीजों की संख्या 9930 यानी 10 हजार के करीब पहुंच गई। शुक्रवार सुबह जारी रिपोर्ट में 68 नए केस सामने आए। इनमें झालावाड़ में 23, भरतपुर में 20, जयपुर में 16, बारां में 4, कोटा में 2 और सवाई माधोपुर में 1 मरीज मिला है। वहीं, 2 दूसरे राज्यों से आए व्यक्ति भी संक्रमित मिले हैं। वहीं, राज्य में अब तक संक्रमण से 213 की जान जा चुकी है।

धार्मिक स्थलों के बाहर सुरक्षा बढ़ाई गई

अनलॉक-01 के दौरान लोगों के धार्मिक स्थलों में पहुंचने की आशंका के मद्देनजर अजमेर में दरगाह और पुष्कर के ब्रह्मा मंदिर सहित अन्य धार्मिक स्थलों की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। दरगाह के सभी एंट्री गेट पर बैरिकेडिंग लगा कर पुलिस तैनात है। पुष्कर में ब्रह्मा मंदिर के भी प्रवेश द्वार पर पुलिस तैनात है। एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने बताया कि क्योंकि अब जब पूरा शहर खुल चुका है। ऐसे में आशंका है कि श्रद्धालु बड़ी संख्या में धार्मिक स्थलों में पहुंच सकते हैं। इसलिए यहां सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

अजमेर: मृतक के परिजन ने पीपीई किट पहनकर किया अंतिम संस्कार, लेकिन एंबुलेंस वाले ने बैठाने से मना किया

  • अजमेर में मृतक के दो परिजन भी चिकित्सकों के साथ पीपीई किट पहनकर नागफणी स्थित कब्रिस्तान में उन्होंने अंतिम रस्म अदा की। कब्रिस्तान से बाहर आने के बाद दाेनाें परिजनों काे सैनिटाइज्ड किया गया। इस दौरान वे जिस एंबुलेंस से कब्रिस्तान पहुंचे थे, उसके चालक ने उन्हें वापस ले जाने से मना कर दिया। करीब एक घंटे तक परिजन पीपीई किट पहनकर आसपास के क्षेत्र में घूमते रहे। संक्रमण की आशंका के चलते लोगों ने विरोध किया तो निगम के अधिकारियों ने परिजनों को वाहन में बैठाकर आगे रवाना कर दिया। पुष्कर रोड पर मेडिकल टीम की निगरानी में परिजनों के पीपीई किट उतरवाए गए।
  • राज्य सरकार की रोक के बावजूद अजमेर के माहेश्वरी पब्लिक स्कूल प्रबंधन की ओर से कक्षा 9वीं और 11वीं की परीक्षा करवाए जाने पर मुकदमा दर्ज किया गया है। कलेक्टर को मिली शिकायत के बाद शिक्षा विभाग की टीम ने स्कूल पहुंचकर जांच की। क्रिश्चियनगंज थाना पुलिस ने परीक्षा रुकवाकर बच्चों को उनके घर भेजा। प्रबंधन की ओर से गुरुवार को कक्षा 9वीं की गणित और कक्षा 11वीं की अंग्रेजी व भूगोल की परीक्षा ली जा रही थी। संस्था के प्रमुक डॉ. आरके श्रीवास्तव ने लिखित में पक्ष रखा कि वे सीबीएसई के नोटिफिकेशन के अनुसार परीक्षा हो रही थी।

झालरापाटन में 3 व्यक्तियों ने सैंपल दिए ही नहीं, रिपोर्ट आई निगेटिव

कोरोना संक्रमण के मामले में हॉटस्पॉट बने झालरापाटन क्षेत्र में चिकित्सा विभाग की कार्यशैली पर सवाल उठे हैं। यहां के तीन व्यक्तियों का कहना है कि उन्होंने कोरोना जांच के लिए सैंपल ही नहीं दिए और रिपोर्ट निगेटिव आ गई। ऐसे में जांच पर सवाल खड़े हो रहे हैं। यहां परकोटा क्षेत्र में कोरोना जांच के तहत सैंपल लिए जा रहे हैं। सिलावट मोहल्ला निवासी भानु राठौर ने बताया कि दो दिन पहले जांच करवाने गया था। टीम ने उनका नाम लिखकर इंतजार करने के लिए कहा, लेकिन वहां धूप काफी अधिक तेज होने से घर लौट आया। ऐसे में जांच नहीं करवा पाया। दो दिन बाद जब रिपोर्ट आई तो निगेटिव देखकर चौंका। जांच हुई नहीं, फिर भी रिपोर्ट दी जा रही है।

वहीं सौरभ पालीवाल ने बताया कि उन्होंने जांच के लिए केवल फॉर्म भरा था, सैंपल नहीं दिए। फिर भी निगेटिव रिपोर्ट वाली सूची में उनका नाम आ गया। एक अन्य अशोक गौड़ ने बताया कि उन्होंने भी सिर्फ जांच के लिए फार्म भरा था, उसके बाद तेज धूप होने से घर चला गया और सैंपल नहीं दिए, लेकिन रिपोर्ट निगेटिव आई।

राजस्थान: सभी 33 जिलों तक पहुंचा संक्रमण

  • प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं। यहां 2154 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं। इसके अलावा जोधपुर में 1702 (इनमें 47 ईरान से आए), उदयपुर में 576, पाली में 554, भरतपुर में 524, कोटा में 503, नागौर में 481, डूंगरपुर में 373, अजमेर में 362, झालावाड़ में 325, सीकर में 243, चित्तौड़गढ़ में 188, सिरोही में 181, टोंक में 169, जालौर में 168, भीलवाड़ा में 160, राजसमंद में 148, झुंझुनूं में 149, चूरू में 142, बीकानेर में 109, जैसलमेर में 88 (इनमें 14 ईरान से आए), बांसवाड़ा में 85, बाड़मेर में 105, मरीज मिले हैं।
  • उधर, अलवर में 82, धौलपुर में 65, दौसा में 62, बारां में 57 सवाई माधोपुर में 24, हनुमानगढ़ में 30, प्रतापगढ़ में 14, करौली में 20 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। श्रीगंगानगर में 7, बूंदी में 4 पॉजिटिव मिला। जोधपुर में बीएसएफ के 50 जवान भी पॉजिटिव मिल चुके हैं। वहीं दूसरे राज्यों से आए 26 लोग पॉजिटिव मिले।
  • राजस्थान में कोरोना से अब तक 213 लोगों की मौत हुई है। इनमें जयपुर में सबसे ज्यादा 105 (जिसमें चार यूपी से) की मौत हुई। इसके अलावा, जोधपुर में 20, कोटा में 17, नागौर और अजमेर में 7-7, पाली में 7, भरतपुर में 7 सीकर में 5, बीकानेर और चित्तौड़गढ़ में 4-4, सिरोही और करौली में 3-3, सवाई माधोपुर, बारां, बांसवाड़ा, जालौर, अलवर और भीलवाड़ा में 2-2, झुंझुनू, दौसा, राजसमंद, उदयपुर, चूरू, प्रतापगढ़ और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है। वहीं दूसरे राज्य से आए 5 व्यक्ति की भी मौत हुई है।