ये ब्लड ग्रुप है दुनिया का सबसे स्पेशल, खासियत जान रह जाएंगे दंग

0
93

आपने आमतौर पर A पॉजिटिव, B पॉजिटिव, AB पॉजिटिव, O नेगेटिव आदि ब्लूफ़ ग्रुप के बारे में तो जरूर सुना ही होगा. एक नार्मल इंसान में आमतौर पर यहीं ब्लड ग्रुप पाए जाते हैं लेकिन आज हम आपको एक ऐसी ब्लड ग्रुप के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका आज से पहले शायद की कभी आपने नाम भी सुना हो. ये एक ऐसा रेयर ब्लड ग्रुप है जो आमतौर पर दुनिया में सिर्फ चालिस लोगों के पास ही है. तो आईये जानते हैं की आखिर कौन से हैं ये ब्लड ग्रुप जो दुनिया में सबसे ज्यादा रेयर और महज 40 लोगों में ही पाया जाता है.

दुनिया का सबसे रेयर ब्लड ग्रुप

आज हम आपको जिस रेयर ब्लड ग्रुप के बारे में बताने जा रहे हैं उसका नाम है रिसस नेगेटिव उर्फ़ RH NULL. इस ब्लड ग्रुप को दुनिया भर में मेडिकल टर्म में लोग गोल्डन ब्लड ग्रुप के नाम से जानते हैं क्यूंकि ये बहुत ही रेयर है. आपको बता दें की किसी भी इंसान की बॉडी में उसके ब्लड ग्रुप का पता एंटीजन काउंट से चलता है. जिस इंसान के शरीर में एंटीजन काउंट कम होता है उसका ब्लड ग्रुप सबसे ज्यादा रेयर माना जाता है.

मेडिकल साइंस की माने तो एंटीजन इंसान के शरीर में एंटीबाडी बनाते हैं जो की शारीर को बक्टेरिया और वायरस के एफेक्ट से बचाता है. रिसस नेगेटिव ब्लड ग्रुप वाले व्यक्ति के शरीर में एंटीजन की मात्र सबसे ज्यादा होती है जो इन्हें हर प्रकार के बक्टेरिया और वायरस के हमले से बचा कर रखती है. लेकिन ताज्जुब की बात ये है की ये ब्लड ग्रुप सबसे ज्यादा रेयर है और महज दुनिया में चालिस लोगों में ही पाया जाता है.

इस ब्लड ग्रुप की सबसे ख़ास बात

अब आपको बताते हैं ये ब्लड ग्रुप किसी व्यक्ति को ख़ास कैसे बना देता है, मेडिकल साइंस की माने तो जिस व्यक्ति में भी ये ब्लड ग्रुप पाया जाता है वो किसी भी व्यक्ति को अपना ब्लड देकर उनकी जान बचा सकते हैं. रिसस ब्लड ग्रुप की सबसे बड़ी खासियत ये है की इस ब्लड ग्रुप के लोग किसी भी अन्य ब्लड ग्रुप वाले लोगों को अपना ब्लड दे सकते हैं. जैस अकी हमने आपको पहले ही बताया है की इस ब्लड ग्रुप में एंटीजन की मात्रा सबसे ज्यादा होती है जो किसी भी तरह के बक्टेरिया और वायरस के हमले से शरीर को बचा कर रखता है.

अब इस ब्लड को अगर किसी अन्य ब्लड ग्रुप वाले व्यक्ति के बॉडी में डाला जाता है तो वो मैच तो करती ही साथ उस व्यक्ति को रिकवर होने में भी काफी मदद करती है. बता दें की रेसिस नेगेटिव ब्लड ग्रुप वाले लोगों की जिंदगी आम लोगों जैसी ही होती है लेकिन उन्हें अपना विशेष रूप से ध्यान रखना होता है. इसकी वजह ये है की इनके बॉडी में पाया जाने वाला ब्लड ग्रुप बहुत ही रेयर होता है और आसानी से मिल नहीं पाता. इस ब्लड ग्रुप के लोग किसी को भी पाना ब्लड डोनेट तो कर सकते हैं लेकिन इन्हें जरुरत पड़ने पर ये किसी और ब्लड ग्रुप का ब्लड ले नहीं सकते.