उत्तर प्रदेश

यूपी में कोरोना को बांध दिए योगी, बड़ी कामयाबी का सबूत हैं ये खास आंकड़े

लखनऊ. प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के ठीक होने की रफ्तार बढ़ रही है। पहले की तुलना में लोगों के ठीक होने की संख्या बढ़ गई है। बीते एक महीने में रिकवरी रेट में 11 फीसद से ज्यादा का सुधार हुआ है। प्रदेश में 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 2,351 नए रोगी मिले हैं। जबकि 3, 339 को डिस्चार्ज किया गया। अब प्रदेश में एक्टिव मरीजों की कुल संख्या 30, 416 रह गई है, जबकि 6714 मरीजों की संक्रमण से मौत हो चुकी है। प्रदेश में कुल 4,22,024 मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। रिकवरी रेट बढ़कर 91.91 प्रतिशत हो गया है। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में अब तक 13.52 लाख लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग की जा चुकी है। इसमे 24 घंटे में 30 मरीजों की मौत हो चुकी है।

रिकवरी रेट 91.91 प्रतिशत

प्रदेश में कोरोना का रिकवरी रेट बढ़कर 91.91 फीसदी हो गया है। वहीं, राष्ट्रीय स्तर पर कोविड रेट 88 फीसदी है। वहीं नए मरीजों के मुकाबले ठीक होने वाले रोगियों की संख्या ज्यादा होने के कारण एक्टिव केस घटकर 30,416 रह गए हैं। अब तक कुल 4.59 लाख लोग कोरोना की गिरफ्त में आए हैं, जिसमें 4.22 लाख मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं, मृत लोगों की संख्या 6685 है।

बीते माह से लगातार आ रही गिरावट

यूपी में 17 सितंबर को सबसे ज्यादा 68,235 एक्टिव केस थे। तब कोरोना वायरस के 3.54 लाख रोगी थे, जिसमें 2.83 लाख स्वस्थ होने से रिकवरी रेट 80 फीसद था। तब से लगातार 34 दिनों से इसमें लगातार गिरावट आ रही है। अब तक 55.43 फीसद केस घटे हैं।

अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद के अनुसार, 18 अक्टूबर को प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में 6,664 बच्चों का जन्म हुआ। इनमे से 6,513 सामान्य और 155 सिजेरियन डिलीवरी से पैदा हुए। सभी सामान्य स्थिति में रहे। अपर मुख्य सचिव ने कहा कि कोरोना के संक्रमण की वजह से जिन बच्चों व गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण नहीं हुआ है। उन बच्चों और महिलाओं को चिन्हित कर उनका टीकाकरण किया जाएगा। इसके लिए नवंबर माह से एक विशेष अभियान के तहत टीकाकरण कराया जायेगा जिसमें ऐसी चिन्हित महिलाओं और बच्चों का टीकाकरण होगा। ये महिलाएं और बच्चे एक से 15 अक्टूबर तक चलाए गए दस्तक अभियान में चिन्हित किए गए हैं।

होम आइसोलेशन में ठीक हो रहे मरीज

ज्यादातर मरीज होम आइसोलेशन में ठीक हो रहे हैं। होम आइसोलेशन में अब तक करीब 44458 मरीज रखे गए हैं। इनमें 42312 मरीजों ने वायरस को मात दी है। 2146 सक्रिय मरीज होम आइसोलेशन में हैं। होम आइसोलेशन की सुविधा से अस्पतालों में गंभीर मरीजों को इलाज मिलने में आसानी हुई है। कोविड कंट्रोल रूम की टीम लगातार होम आइसोलेशन में रखे गए मरीजों की तबीयत का अपडेट लेते हैं।

Back to top button