मौत का लॉकडाउन : मुंबई से बिहार जा रहे तीन युवकों को डंफर ने कुचला, दो ने मौके पर तोड़ा दम

0
54

मीरजापुर । लालगंज थाना क्षेत्र के बसहीकला गांव के समीप राष्ट्रीय मार्ग पर पटरी के नीचे सो रहे बिहार निवासी तीन युवकों की शुक्रवार की सुबह डंफर से कुचलकर दो लोगों की मौत हो गई और एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने घायल को उपचार के लिए मंडलीय चिकित्सालय पहुंचाया और डंफर समेत चालक को हिरासत में लेकर कार्रवाई में जुट गई। वहीं मंडल व जिले के सभी उच्चाधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का मुआयना किया।

मुम्बई में जया इंफ्राटेक एवं एनएलटी कंपनी के वर्कर मुंबई से इनोवा कार पर सवार होकर चालक सहित आठ लोग बिहार के गोपालगंज व वैशाली जा रहे थे। लालगंज थाना क्षेत्र के बसहीकला गांव के समीप राष्ट्रीय राजमार्ग सात पर एक मठ के सामने गाड़ी रोककर रोड के नीचे पटरी के बगल में सभी लोग सो गए। इसी बीच लालगंज से बसहकला स्थित फोरलेन निर्माण कंपनी डीबीएल के डंफर चालक को झपकी आ गई और असंतुलित होकर डंपर रोड के नीचे सो रहे इनोवा संवारो को रौंदते हुए आगे बढ़ गई। इसमें दो लोगों की घटनास्थल पर और एक की अस्पताल जाते समय मौत हो गई।

सूचना पर पहुंचे थाना प्रभारी हरिश्चंद्र सरोज एक घायल युवक को मंडलीय अस्पताल पहुंचाया और शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बिहार के गोपालगंज व वैशाली जनपदों के निवासी सात की संख्या में इनोवा गाड़ी रिजर्व कर के मुंबई से घर वापस जा रहे थे। वे जैसे ही लालगंज पहुंचे थे कि ड्राइवर ने बसही स्थित मठ के सामने गाड़ी पटरी से उतारकर मठ से सटाकर खड़ा कर दिया। उसके बाद तीन लोग बाहर चादर फैलाकर सो गए और चार सवार गाड़ी में सो गए थे। वहीं भोर के लगभग तीन बजे फोरलेन कंस्ट्रक्शन कंपनी डीवीएल डंपर गाड़ी पत्थर लेकर कैंप बसहीं जा रही थी। उस समय डंफर चालक को झपकी आ गयी या ब्रेक फेल हो गया जिससे डंपर अनियंत्रित होकर सड़क के किनारे सो रहे मुंबई से लौटने वाले बिहार के निवासियों को रौंद दिया। उनकी चीखें पुकार सुनकर मठ के लोग और ब्लाक प्रमुख नरेन्द्र गिरि जाग गए। थाना प्रभारी हरिश्चंद्र घटनास्थल पर पहुचे।

बिहार के गोपालगंज फैजुल्लापुर खोमारी गांव निवासी राजू सिंह (26), सौरभ कुमार (23) की घटनास्थल मौत हो गई। घायल गोपालगंज खोमारी बैंकुठपुर निवासी अमित सिंह (26) गंभीर रूप से घायल की अस्पताल जाते समय रास्ते में मौत हो गई। इसके अलावा गाड़ी में बैशाली बाड़ी बराही राजापार्क गांव के विशाल कुमार (21), रोहित (22), विक्रम कुमार (27), फैजुल्लापुर के मुन्ना सिंह इनोवा में रहने के कारण बाल-बाल बच गये।

ब्लाक प्रमुख ने किया सहयोग

मठ के महंत ब्लाक प्रमुख नरेंद्र गिरि ने घायलों को अस्पताल भेजवाने में लगे रहे। उन्होंने थाना पुलिस के अलावा पीआरवी व एम्बुलेंस को सूचना दिया। सभी घायलों को अस्पताल भिजवाना में पुलिस का सहयोग किया।

कमिश्नर, आईजी व डीएम, एसपी ने किया घटनास्थल का मुआयना

घटनास्थल पर बसहीकला गांव में मंडलायुक्त प्रिती शुक्ला, आईजी पीयुष श्रीवास्तव, जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल, पुलिस अधीक्षक डा. धर्मवीर सिंह, एसडीएम शिव प्रसाद, तहसीलदार अरुण गिरि व पुलिस क्षेत्राधिकारी बीपी सिंह मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का मुआयना किया।

मंडलायुक्त प्रीती शुक्ला ने मौका मुआयना के दौरान कहा कि इन्हे किसी शेल्टर होम पर रुक जाना चाहिए था। उन्होंने आरोपी चालक का मेडिकल कराने के लिए थाना प्रभारी को निर्देश दिया।