उत्तर प्रदेश

मुलायम का बयान ‘मोदी बने दोबारा पीएम’, रामगोपाल बोले- टोटका था ताकि..

उत्तर प्रदेश में मचा सियासी दंगल अब एक अलग ही दिशा ले चुका है। जहां सपा बसपा गठबंधन किया है। वहीं कांग्रेस ने चुनावी दंगल में प्रियंका गांधी को उतारकर मास्टर स्ट्रोक का खेल दिया है। जो कि सपा बसपा गठबंधन को कुछ खास पसंद नहीं आ रहा है। यूं तो सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रियंका गांधी की जमकर तारीफ की है लेकिन अब सपा नेता रामगोपाल यादव ने पार्टी का असली रंग दिखा दिया है।

सपा नेता रामगोपाल यादव ने कहा है कि अगर कांग्रेस ने सपा बसपा को किसी भी तरह से नुकसान पहुंचाने की कोशिश की तो हम उनकी परंपरागत सीट रायबरेली और अमेठी पर भी अपने उम्मीदवार उतार देंगे। जिससे सीधे तौर पर कांग्रेस की सीटों पर भी हार होगी। इसके साथ उन्होंने यह भी चुनौती दी है कि कांग्रेस को रायबरेली और अमेठी के अलावा एक भी सीट नहीं दी जाएगी।

अगर कांग्रेस सपा बसपा के खिलाफ जाकर शिवपाल यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन करना चाहते हैं तो इस पर हमें कोई आपत्ति नहीं है। इसके साथ रामगोपाल यादव ने प्रियंका गांधी पर भी हमला बोलते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी को उतार कर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जो मास्टर स्ट्रोक खेला है। उसका प्रदेश में कोई असर नहीं है। इसके साथ उन्होंने हाल ही में सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ किए जाने के बयान पर सफाई दी है।

रामगोपाल यादव का कहना है कि मुलायम सिंह ने पीएम मोदी के बारे में जो भी कहा है, वह एक टोटका था और यह सब रणनीति बनाने के लिए उनके मुंह से करवाया गया था। क्योंकि वह जिन्हें भी शुभकामनाएं देते हैं वह हार जाता है। इससे पहले उन्होंने मनमोहन सिंह को भी शुभकामनाएं दी थी जब यूपीए कार्यकाल के दौरान उन्हें बड़ी हार मिली थी।

इससे पहले मुलायम सिंह की छोटी बहू अपर्णा यादव ने भी अपनी बात रखी थी। अपर्णा यादव ने कहा है कि बड़े लोग हमेशा आशीर्वाद देते हैं, लेकिन आशीर्वाद देने का मतलब ये नहीं है कि चुनाव जीत जाएं। हमें इस बार कड़ी मेहनत करने की जरूरत है। उनकी शुभकामनाएं किसी एक के साथ नहीं बल्कि सभी के साथ हैं। चुनाव जीतने और लोगों के संपर्क में रहने के लिए आपको बहुत मेहनत करनी पड़ती है।

Back to top button