मुंबई में हाहाकार मचा दी महामारी, धारावी के आंकड़े डरावने, पॉजिटिव निकले मॉर्च्युरी हाउस के सभी कर्मचारी !

0
247

महाराष्ट्र में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 70 हजार पार कर गई है। इनमें से 40 हजार से ज्यादा केस सिर्फ मुंबई में मिले हैं। यहां कुल 40,877 संक्रमित हो गए हैं। सोमवार को राज्य में कोरोना के 2,361 नए केस सामने आए। मुंबई में 1,413 नए मरीज मिले। महाराष्ट्र में कुल मरीजों की संख्या 70,013 तक पहुंच गई है।

सोमवार को 76 मरीजों की मौत की पुष्टि हुई। मरने वालों की कुल संख्या 2,362 हो गई है। सबसे अधिक 40 मौतें मुंबई में हुईं। यहां कोरोना के कारण 1,319 लोगों की जान गई। सोमवार को मुंबई के बाद पुणे में सबसे ज्यादा 8, मीरा भायंदर और नवी मुंबई में 6-6, वसई, विरार और औरंगाबाद में 3-3, रायगढ़ और डोंबिवली में 2-2, ठाणे, नासिक, पिपरी चिंचवाड़, जालना, बीड और नागपुर में 1-1 मरीज की मौत हुई।

एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्तियों में से एक धारावी में मई महीने में कोरोनावायरस के करीब 1,400 नए केस मिले। यह संक्रमितों की संख्या अप्रैल के मुकाबले 380% ज्यादा है, जिससे यहां के लोगों की चिंता बढ़ गई है। अप्रैल महीने में धारावी में कुल 369 मामले सामने आए थे, जो मई के अंत में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,771 हो गई। मुंबई में सामने आए कुल संक्रमितों में अकेले 4.4% धारावी में आए हैं।

आज नौबत ये है कि बीएमसी के अस्पतालों में महज 50 फीसदी नर्स और 33 फीसदी वार्ड ब्वॉय के सहारे ही कोरोना से जंग लड़ी जा रही है। केईएम अस्पताल से 250 नर्सें नदारद हैं। लेकिन, केईएम प्रशासन ने इनके खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है। नर्स की ड्यूटी 6 घंटे से बढ़ाकर 7 घंटे की गई है और उसमें भी दो शिफ्ट में काम करना पड़ रहा है। ऐसे ही कुछ हाल मुंबई के अन्य हॉस्पिटल्स में भी है।

वहीं केईएम अस्पताल के मॉर्च्युरी हाउस के सभी कर्मचारी पॉजिटिव आने के बाद इसे बंद करने की नौबत आ गई है। 30 से 40 लाशें बिखरी पड़ी हैं। हालांकि, केईएम अस्पताल के डीन हेमंत देशमुख ने कहा कि मॉर्च्युरी हाउस बंद नहीं होगा। कुछ स्वास्थ्यकर्मी जरूर कोरोना पॉजिटिव हैं, लेकिन अन्य कर्मचारी 24 घंटे यहां कार्यरत हैं।