Breaking News
Home / मनोरंजन / छोटा पर्दा / बॉलीवुड की चमचमाती दुनिया की खौफनाक सच्चाई, कोई बना राजा तो कोई रंक

बॉलीवुड की चमचमाती दुनिया की खौफनाक सच्चाई, कोई बना राजा तो कोई रंक

फिल्मों की चमचमाती दुनिया हर किसी को अपनी ओर खींचती है. लेकिन क्या आपको पता है इस चकाचौंध भरी दुनिया की सच्चाई. जिसपर यकीन करना मुश्किल होता है. इस फिल्मी जगत में आपको कई ऐसे कलाकार देखने को मिल जाएंगे जो अरबों के मालिक है. वहीं दूसरी ओर कुछ कलाकार ऐसे भी हैं पाई-पाई को मोहताज हैं.

दरअसल हम आज आपको एक ऐसे ही कलाकार के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होने बॉलीवुड के बड़े अभिनेता के साथ काम तो किया ही है इसके अलावा कई अच्छी फिल्मों में उनको आप सभी ने देखा हैं जैसे गुलाल, ब्‍लैक फ्राइडे और पटियाला हाउस जैसी फिल्‍मों में वो काम कर चुके हैं लेकिन आज उनकी हालत ऐसी हो गई है कि वो अपना पेट पालने के लिए चौकीदारी कर रहे हैं। जी हां दरअसल हम जिनके बारे में बात कर रहे हैं वो कोई और नहीं बल्कि उनका नाम त्रिलोचन सिंह सिद्धू को आपने कई फिल्‍मों में देखा होगा।

अक्षय कुमार जैसे दिग्‍गज एक्‍टर के साथ वह स्‍क्रीन शेयर कर चुके हैं। त्रिलोचन ने बताया कि जब उन्होंने मुंबई में अपना संघर्ष शुरू किया तो उन्हें अनुराग कश्यप ने डेब्यू फिल्म पांच ऑफर की थी। हालांकि ये फिल्म रिलीज नहीं हो सकी थी। इसके बाद वह कई फिल्मों में छोटे-मोटे रोल करने लगे। समय का पहिया कब उल्‍टा घूमने लगे, कोई नहीं जानता। एक समय था, जब त्रिलोचन के पास काम की कमी थी लेकिन धीरे-धीरे उन्‍हें काम कम मिलने लगा। अब आर्थिक परेशानी बढ़ने लगी थी। साथ ही स्‍वास्‍थ्‍य भी साथ नहीं दे रहा था। कुछ समय बाद हालात ऐसे हुए कि काम मिलना ही बंद हो गया।

त्रिलोचन के मुताबिक एक वक्त उनके पास इतना काम था कि उन्होंने कुछ प्रोजेक्ट्स ये कहकर छोड़ दिए कि उनकी तबियत ठीक नहीं है। कुछ वक्त बाद उन्हें काम मिलना बंद हो गया और उनकी आर्थिक हालत भी खराब होने लगी। अपनी करियर के सबसे मुश्किल दौर के बारे में बात करते हुए सवी ने कहा, सबसे बुरा वक्त तब था, जब मैंने अपनी पत्नी को खो दिया। इसके बाद उनके पिता, माता की भी मृत्यु हो गई, जिसने उन्हें तोड़ दिया। इसके बाद वह काफी अकेले पड़ गए।

दरअसल त्रिलोचन यूपी के लखनऊ यानी नवाबों के शहर से ताल्‍लुक रखने वाले सवी की माली हालत ऐसी है क‍ि वह घर भी नहीं लौटना चाहते। लखनऊ से ही स्‍कूली पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्‍होंने चंडीगढ़ आकर कॉलेज में दाख‍िला लिया। उनके भाई की नौकरी मुंबई में लग गई। त्रिलोचन भी मुंबई आने-जाने लगे। मॉडलिंग से आगे अब रुपहले पर्दे का ख्‍वाब दिखने लगा।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com