बीमारियों को नजरअंदाज करना हो जाता कितना खतरनाक, देखिए इस लड़की का हाल !

0
136

अक्सर हम बहुत सारी बीमारियों को छोटी-मोटी बीमारी समझकर नजरअंदाज कर देते हैं, और उन्हें गंभीरता से नहीं लेते. खासतौर पर दांत में दर्द, सिर में दर्द, पेट में दर्द इन बीमारियों को हम हल्के-फुल्के में ही लेते है. लेकिन ये कितना खतरनाक हो सकती है, उसी के बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं. एक महिला ने अपने दांत के दर्द को किया था नजरअंदाज जिसकी उन्हें भारी सजा भुगतनी पड़ी. यह महिला थाईलैंड की 28 की जेनी यू है.

दांत का दर्द निकला कैंसर

जेेनी यू को 2015 में दर्द की समस्या हुई थी मगर उसने उसे नजरअंदाज किया. दर्द थोड़ा बढ़ने लगा तो 2016 में वह डॉक्टर के पास गई. लेकिन फिर भी वह दर्द को मामूली ही समझ रही थी. जब वह लगातार डॉक्टर को यह दांत दिखाने जाती रही तो पता चला कि यह कोई मामूली दर्द नहीं है बल्कि टर्मिनल कैंसर जैसी घातक बीमारी बन चुकी है.

6 बार कीमोथेरेपी

ठीक तरह से डॉक्टर भी नहीं समझ पाए कि वास्तव में दिक्कत क्या है. तो डॉक्टर्स ने जेनी को सीधे साउथ कोरिया के विशेषज्ञ सियोल के पास जाने की सलाह दी. वहां जाकर जेनी को जो पता चला उनके होश उड़ गए. जेनी के जबड़े के बायीं ओर ट्यूमर हो रहा था. इतना ही नहीं कैंसर का पता चला और इसके बाद जेनी की 6 बार कीमोथेरेपी कराई गयी.

ट्यूमर ठीक होने की बजाए बढ़ता ही चला गया और जेनी का चेहरा बदसूरत होता गया. 6 कीमोथेरेपी कराने के बाद चहेरे का रंग-रुप, आकार बदल गया. जेनी की नाक और आंख ट्यूमर की सूजन के कारण टेढ़े हो गए. यहां तक कि उन्हें बोलने में भी दिक्कत होने लगी है. जेनी का कहना है कि“कैंसर मेरे जीवन में कहर बन कर टूट पड़ा है और मैं इसे हराने के लिए काफ़ी बेताब हूं. मैंने सोचा था कि यह दांतों की सामान्य समस्या है. मगर ये मेरी ज़िंदगी में कहर बन कर टूटेगा, मैं नहीं जानती थी.” जेनी ने आगे बताया कि उनकी इस हालत के चलते उनके माँ-बाप भी कहीं बाहर नहीं जा पाते हैं.

आपके साथ यह कहानी साझा करने का मकसद सिर्फ इतना ही था कि अगर आप भी किसी बीमारी को छोटा समझ कर नजरअंदाज कर रहे हैं तो आप गलती कर रहे हैं और अपना इलाज जल्द से जल्द कराएं.