राजनीति

बीजेपी से गठबंधन के बावजूद शिवसेना ने फिर दिखाए तेवर – ‘..तो मोदी नहीं बनेंगे PM’

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर अभी तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ही एनडीए की और से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार माना जाता रहा है।लेकिन यह भी हकीकत है कि पिछले कुछ समर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता मे काफी गिरावट आयी है। इसके चलते अब एनडीए के घटक दलो ने दूसरे विकल्पों पर भी विचार करना शुरु कर दिया है।इसी कड़ी मे शिवसेना के नेता संजय राउत ने इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा है कि इस बार लोकसभा चुनाव में अगर भाजपा 2014 मे जीती सीटों से 100 सीटें कम जीतती है तो प्रधानमंत्री कौन बनेगा ये एनडीए तय करेगा।

उल्लेखनीय है कि संजय राऊत का यह बयान उस समय आया है जब शिवसेना और भाजपा के बीच महाराष्‍ट्र में लोकसभा चुनावों के लिए सीटों के बंटवारे को लेकर समझौता हो गया है।इसकी औपचारिक घोषणा भी हो चुकी है,जिसके अनुसार आगामी लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों में से शिवसेना 23 और बीजेपी 25 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। भाजपा और शिवसेना के बीच ज्यादा सीटो पर चुनाव लड़ने को लेकर विवाद चल रहा था ,लेकिन अब शिवसेना भाजपा से दो सीट कम में चुनाव लड़ रही है।

इस पर राउत का कहना.है कि ‘हम अब भी राज्य में सबसे बड़े हैं 2014 में भाजपा ने यहां 123 सीटें जीती थी और शिवसेना ने 63 इसके बावजूद इस बार भाजपा शिवसेना से लगभग बराबर सीटों पर चुनाव लड़ रहा है। इसके अलावा भाजपा ने शिवसेना का मुख्यमंत्री बनाने के बारे में सकारात्मक संकेत दिये है।साथ ही उन्होंने दावा किया कि राज्य मे मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा।

पिछले काफी समय से शिव सैना बीजेपी पर हमलावर थी ,इस पर राउत ने सफाई देते हुए कहा ‘ शिवसेना ने हमेशा सच का साथ दिया है। हमने भूमि अधिग्रहण के कानून का विरोध किया है क्योंकि किसानों की उपजाऊ जमीन पर स्मार्ट सिटी नहीं बन सकती। हमने बुलेट ट्रैन का भी विरोध किया है। क्योंकि इस से किसानों का नुकसान होगा। ऐसे ही हमने नोटबंदी का भी विरोध किया था। क्योंकि उससे बेरोजगारी बढ़ी। हमने राम मंदिर पर भी सवाल उठाए हैं। हमने हमेशा उनकी नीतियों की आलोचना की है।’

Back to top button