उत्तर प्रदेश

बीजेपी सांसद ने योगी तक पहुंचाई ‘मंदिर में शराब बांटने’ वाली बात, नरेश बोले- तवज्जो नहीं देते

लोकसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश की सियासत में सरगर्मी बढ़ गयी है. हरदोई से बीजेपी नेता नरेश अग्रवाल के बेटे द्वारा शराब बंटवाने का मामला सामने आया है. जिसे लेकर हरदोई से बीजेपी सांसद अंशुल वर्मा ने नरेश का विरोध जताया है. अंशुल वर्मा ने इस पूरी घटना को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडे को शिकायती पत्र लिखा है.

वहीं बीजेपी सांसद अंशुल वर्मा के शिकायती पत्र  और विरोध पर पूर्व सांसद नरेश अग्रवाल ने बिना किसी का नाम लिए दो टूक कह दिया कि जो लोग गंभीर नहीं होते, उनको वो कोई तवज्जो नहीं देते हैं.

सोमवार को मीडिया से बातचीत के दौरान हरदोई सदर सांसद अंशुल वर्मा ने कहा कि रविवार को अनुसूचित जाति सम्मेलन का आयोजन श्रवण देवी मंदिर परिसर में किया गया था. पूर्व सांसद नरेश अग्रवाल की ओर से आयोजित सम्मेलन के दौरान मौजूद क्षेत्रवासियों और बच्चों के मध्य लंच पैकेटों में शराब की शीशी का वितरण किया गया. अंशुल वर्मा ने कहा कि हमारी पार्टी जिस संस्कृति की दुहाई देती है, उसे नरेश अग्रवाल भूल गए हैं. उन्होंने यह भी कहा कि पासी समाज से होने के कारण वह इस समाज को नशे जैसी कुप्रवृत्तियों से दूर रहने के लिए जागरूक करते हैं.

भाजपा सांसद ने कहा कि नरेश अग्रवाल ने पासी समाज का उपहास करते हुए जनपद के प्रख्यात शक्तिपीठ में शराब बांटने जैसा निंदनीय कार्य किया है. इसकी जानकारी मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर दी गई है. इस प्रकार की गतिविधियों को अगर पार्टी गंभीरता से नहीं लेती है तो सड़क पर उतरकर पासी समाज के सम्मान के लिए लड़ाई लड़ेंगे. जिस पर नरेश बोले जो लोग गंभीर नहीं होते, उनको वो कोई तवज्जो नहीं देते हैं.

बता दें कि नरेश अग्रवाल और इनके बेटे ने नितिन अग्रवाल कुछ समय पहले ही समाजवादी पार्टी से भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए हैं. नरेश बाहुबली और दबंग क्षवि के नेता हैं जिनका हरदोई जिले की लगभग सभी विधानसभा सीटों पर अच्छा प्रभाव माना जाता है.

Back to top button