बार-बार ओवरलोड की बात कर रही कोहली ब्रिगेड, साल में कितने दिन खेलते हैं मैच, जानिए

0
96

भारतीय टीम और खिलाड़ियों पर वर्कलोड की बात पिछले काफी समय से चर्चा में हैं और भारतीय कप्तान विराट कोहली खुद इस विषय पर चिंता जाता चुके हैं। टीम की रोटेशन पॉलिसी के कारण अन्य खिलाड़ियों को फिर भी आराम का समय मिल जाता हैं, लेकिन तीनो फॉर्मेट खेलने विराट कोहली, रोहित शर्मा, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी जैसे खिलाड़ी वर्ष के लगभग 300 दिन व्यस्त रहते हैं, और इस बात का खुलासा खुद विराट कोहली ने न्यूजीलैंड के खिलाफ वेलिंग्टन में टेस्ट से पहले प्रेस कांफ्रेंस के दौरान किया हैं।

भारतीय टीम अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर वर्ष में लगभग 36 मुकाबले खेलती हैं, और टीम के सफ़र और अभ्यास को मिलाकर वह लगभग 300 से अधिक दिन का समय मैदान में बिताते हैं। इसके अलावा अधिकतर खिलाड़ी आईपीएल और अन्य टी-20 लीग में भी हिस्सा लेते हैं।

विराट कोहली को डेब्यू (18 अगस्त 2008) डेब्यू किये लगभग एक दशक से भी अधिक का समय बीत चूका हैं और इस दौरान उन्होंने 84 टेस्ट, 248 वनडे और 82 टी-20 मैच खेले हैं। अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में विराट कोहली अब तक 750 दिन मैदान पर गुजार चुके हैं और यदि इसमें अभ्यास सत्र और टीम के साथ सफर को जोड़ दे तो यह आंकड़ा 4 हजार दिन से भी अधिक का हो जाता हैं।

कोहली ने तीनो प्रारूपों में अब तक 414 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं और इनमे से सबसे अधिक 44 मुकाबले उन्होंने पिछले वर्ष 2019 में ही खेले हैं। इससे पहले वह 2011 और 2013 में 43-43 मुकाबले खेल चुके हैं। 2011 के बाद से अभी तक कोई भी वर्ष ऐसा नहीं निकला जहाँ कोहली ने 30 से कम मुकाबले खेले हों।

भारतीय टीम की भी बात करे तो वह पिछले कुछ समय से लगातार क्रिकेट खेल रही हैं, इतना कि खिलाड़ियों को आराम के लिए 2 दिन का समय भी नहीं मिल रहा हैं। टीम ने पिछले वर्ष जून के बाद 22 वनडे, 20 टी-20 और 7 टेस्ट मैच खेले हैं और इनके साथ अगर अभ्यास के समय को भी जोड़ लिए जाए तो भारतीय टीम ने 9 महीने में लगभग 132 दिन मैदान पर बिताए हैं, यानी की औसतन हर दूसरा दिन मैदान पर।

अगर पूरे 2019 की बात करे तो यहाँ भारतीय टीम ने लगभग 79 दिन मैदान पर गुजारे हैं, यानी हर पांचवा दिन भारतीय टीम मैदान पर थी। भारत ने इस दौरान 52 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले हैं। 2018 की बात करे तो इस वर्ष भारत सबसे ज्यादा 14 टेस्ट खेलने वाली टीम थी और इसी वर्ष उन्होंने मैदान पर सबसे ज्यादा 97 दिनों का समय बिताया था। यानी औसतन हर चौथे दिन भारतीय टीम क्रिकेट खेल रही थी।