बदल रहा भारत का कोरोना मैप, टॉप-10 राज्यों में से 6 में मिल रही जीत, देखें खुश करने वाला आंकड़ा !

0
93

नई दिल्ली. सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली, गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, पश्चिम बंगाल, आंध्रप्रदेश और बिहार हैं। इनमें से तमिलनाडु, गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश और आंध्रप्रदेश में जितने मरीज अस्पताल में भर्ती हैं, उनसे ज्यादा ठीक हो चुके हैं। आंध्रप्रदेश में 66, राजस्थान में 60% और उत्तरप्रदेश में 59% मरीज ठीक हो चुके हैं।

राज्य अस्पताल में मरीज ठीक हुए
महाराष्ट्र 38948 18616
तमिलनाडु 8676 10548
दिल्ली 8470 7495
गुजरात 6609 8003
राजस्थान 3121 4855
मध्यप्रदेश 3082 4050
उत्तरप्रदेश 2758 4215
प.बंगाल 2573 1668
आंध्रप्रदेश 1053 2133
बिहार 2120 1050

सबसे बेहतर स्थिति आंध्रप्रदेश, फिर राजस्थान की
संक्रमित हुए मरीज और उसकी तुलना में ठीक हुए मरीजों की संख्या देखें तो सबसे ज्यादा 66% लोग आंध्रप्रदेश में और इसके बाद 60% राजस्थान में ठीक हुए हैं। यहां भी महाराष्ट्र 31% के साथ सबसे नीचे है। आंध्रप्रदेश इस हिसाब से भी बेहतर है कि वहां उससे अधिक प्रभावित राज्यों की तुलना में टेस्ट ज्यादा हो रहे हैं।

राज्य ठीक हुए प्रतिदिन जांच
आंध्रप्रदेश 66% 9-10 हजार
राजस्थान 60% 10-14 हजार
उत्तरप्रदेश 59% 4-6 हजार
तमिलनाडु 54% 10-12 हजार
मध्यप्रदेश 54% 3-5 हजार
गुजरात 51% 3-4 हजार
दिल्ली 46% 4-6 हजार
प.बंगाल 37% 8-9 हजार
बिहार 33% 2-2.5 हजार
महाराष्ट्र 31% 14-15 हजार

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा था कि बार-बार टेस्टिंग संभव नहीं

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने दो दिन पहले ही कहा था कि देश में जरूरत के हिसाब से टेस्टिंग की जा रही है। जोखिम वाले या फिर बीमारी के लक्षण वाले लोगों को प्राथमिकता दी जा रही है। स्थिति को देखते हुए समय-समय पर स्ट्रैटजी बदली जाती है। हर रोज 1.60 लाख टेस्ट करने की कैपेसिटी है। अब तक 32 लाख 44 हजार 884 टेस्ट किए गए हैं। उन्होंने कहा कि 1.3 अरब की आबादी का बार-बार टेस्ट करेंगे तो ये न सिर्फ महंगा पड़ेगा, बल्कि संभव भी नहीं हो पाएगा।