Top News
राज्यसभा में भी नागरिकता संशोधन बिल को हरी झंडी, पक्ष…CAB : 727 नामचीन हस्तियों ने बताया संविधान विरोधी, लिखा…ये लड़का हर महीने 5 औरतों को बनाता है मां,…जोक्स: पड़ोसन को किस करते लड़के ने पूछा- तुम्हारा पति…हिंदू धर्म में अंतिम संस्‍कार के बाद आवश्यक है स्‍नान,…प्रियंका चोपड़ा जब सरेआम हुईं Oopss मोमेंट का शिकार, देखें…ये लड़की 130 किलो से 62 तक पहुंची, बताई अपनी…ये हैं भारत के पांच सबसे महंगे मकान, एक तो…बच्चों को सैनिक बनाने के लिये खुला स्कूल, लेकिन वहां…WhatsApp पर इस सिक्यूरिटी फीचर को 1 मिनट से कम…काजोल और रानी सिर्फ कहने को हैं बहनें, इस वजह…इंटरव्यू का सवाल: कौन सी चीज नहीं होती पानी में…इन 4 कामों को अधूरा छोड़ने की शास्त्रों में सख्त…शाहरुख को अपना अवॉर्ड समर्पित किया ये इंडोनेशियन एक्टर, वजह…Video : सरकार से बोली शिवसेना- जिस स्कूल में आप…बिग बॉस: विकास ने ‘पोस्ट ऑफिस’ टास्क में चलाया ऐसा…इस न्यूकमर के गॉडफ़ादर बने सलमान, इस तरह से मदद…स्टेज पर गिरने वाली थीं सारा अली खान, लेकिन कार्तिक…रातों रात दूध जैसी गोरी होगी रंगत, घर बैठे बनाएं…जिस 2000 रुपए की ‘नोटबंदी’ की खबर वायरल, जानिए क्या…एकसाथ बिछा दी 2 बहनों की लाशें, मर्डर वेपन- रोटी…छात्रा को अकेला देख ड्राईवर बन गया हैवान, बस में…‘दबंग 3’ के मेकर्स दे रहे आपको ‘चुलबुल’ स्वैग का…जाह्नवी से गरीब बच्चे ने मांगे पैसे, दे दी ऐसी…RISAT-2BR1 सेटेलाइट इसरो ने किया लॉन्‍च, अब देश दुश्मनों पर…अवैध खनन की जांच करने गए अफसर पा गए सोने…पहाली रात पर दुल्हन का खुला ऐसा राज, दूल्हे को…आटे में चुपके से रख दें ये चीजें, फिर देखिए…तिहाड़ में लगातार टीवी देख रहे निर्भया के गुनाहगार, हर…युवी के रिटायरमेंट पर मां ने पहली बार जाहिर किए…दूसरे धर्म के लड़के संग जिंदगी बिताने का बनाया प्लान,…रेखा को अमिताभ की जिंदगी से यूं बाहर निकालीं जया,…सर्दी-जुखाम को इस लड़के ने लिया हल्के में, कीमत चुकाई…विराट रिकॉर्ड से सिर्फ 6 कदम दूर हैं कोहली, क्या…इन जोक्‍स को पढ़कर लोटपोट होने की गारंटी, यकीन न…बहनों की चौकड़ी ने जब शुरु किया बवाल, चौकी छोड़…14 साल की लड़की को अगवा कर बनाया मुसलमान, फिर…गुजरात दंगों में पीएम का नहीं कोई रोल, अमित शाह…VIDEO : रोहित ने किया है जो बड़ा दावा, क्या…बुंदेलियों ने फिर लिखी खून से चिट्ठी, क्या इस बार…विराट-अनुष्का की शादी को हुए दो साल, फोटो पोस्ट कर…यूपी की शिक्षा-व्यवस्था का देखिए सबूत, स्कूल में स्टूडेंट्स को…दूल्हा देर से लेकर पहुंचा बारात, दुल्हन ने फेरे ले…गृहमंत्री ने कहा-गलत सूचना फैलाने वाले बताएं कि यह बिल…नींबू में अगर इस तरह से गाड़ दी लौंग, तो…VIDEO : रोहित ने अचानक लिया ‘क्लीन शेव’ अवतार, इसकी…शादी तक के कागज निकले फर्जी, उसको तो सिर्फ सुहागरात…अनचाहे WhatsApp Groups में अगर नहीं होना चाहते Add, तो…पीके के पास सिर्फ 2 ऑप्शन- या तो खुद जेडीयू…अदालत के बाहर महिलाओं ने घेर लिया टीचर, मारा पत्थर…

बंगाल में बीजेपी को 3-0 से हराकर भी ममता परेशान, जानिए वजह

देश में हर महीने-दो महीने में किसी न किसी क्षेत्र में कोई न कोई चुनाव या उप चुनाव होते रहते हैं. भले ही ये छोटे-मोटे चुनाव देश की राष्ट्रीय राजनीति में अधिक प्रभाव न डालते हों, परंतु कुछ चुनाव के परिणाम ऐसे होते हैं, जो राज्य की सत्ता में बैठे लोगों की नींद उड़ा देते हैं. शुक्रवार को भी देश में दो राज्यों उत्तराखंड (1) और पश्चिम बंगाल (3) की 4 विधानसभा सीटों के उप चुनाव परिणाम घोषित हुए. राष्ट्रीय राजनीति में भले ही इनकी चर्चा अधिक न हुई हो, परंतु स्थानीय स्तर पर इन चुनाव परिणामों ने विशेषकर पश्चिम बंगाल में बड़ा प्रभाव डाला है.

वास्तव में पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी (BJP-बीजेपी) के बढ़ते कद से सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (TMC), उसकी सुप्रीमो व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी लगातार परेशान हैं. लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा ने ममता के गढ़ पश्चिम बंगाल में भारी सेंध लगा कर 18 सीटें जीत लीं, तो ममता को अपनी राजनीतिक ज़मीन खिसकती दिखाई देने लगी. इतना ही नहीं, ममता ने पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के लिए लोकसभा चुनावों में भाजपा के सेंध लगाने के बाद से ही तैयारियाँ शुरू कर दी हैं, परंतु ममता की तैयारियों का बहुत अधिक प्रभाव देखने को नहीं मिल रहा. ऐसा इसलिए कहा जा सकता है, क्योंकि राज्य की 3 विधानसभा सीटों के उप चुनाव परिणाम कुछ यही संकेत दे रहे हैं.

इसमें कोई संदेह नहीं है कि पश्चिम बंगाल में हुए उप चुनावों में ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी ने तीनों सीटें जीत लीं. कालियागंज, करीमपुर और खड़गपुर सदर विधानसभा सीटों के उप चुनावों में टीएमसी को ही विजय हासिल हुई है और दूसरी तरफ लोकसभा चुनाव में तेजी से आगे बढ़ने वाली भाजपा को हार का सामना करना पड़ा, परंतु हार के बावजूद भाजपा छावनी में निराशा नहीं, अपितु संतोष का वातावरण है, क्योंकि इन परिणामों में भी भाजपा की लोकसभा चुनाव 2019 में आरंभ हुई ‘बंगाल क्रांति’ की झलक स्पष्ट रूप से देखने को मिली है.

उप चुनाव परिणामों के आँकड़ों का विश्लेषण करें, तो स्पष्ट है कि भाजपा की बंगाल क्रांति जारी है और तीनों सीटें जीतने के बावज़ूद ममता बैनर्जी न तो इतनी अधिक खुश होंगी और न ही इस बात को लेकर आश्वस्त होंगी कि उनका बंगाली दुर्ग अब भी उतना ही सुरक्षित है. चुनाव परिणामों के आँकड़ों का विश्लेषण करें, तो भाजपा भले ही तीनों सीटें हार गई, परंतु विधानसभा चुनाव 2016 की तुलना में भाजपा को तीन गुना अधिक वोट मिले हैं. इतना ही नहीं भाजपा तीनों सीटों पर दूसरे नंबर पर रही है.

Share this post

scroll to top