जिंदगी

पवित्र होता है स्त्री का कौन सा भाग, जानकर हैरान हो जाएंगे आप

हिन्दू धर्म की मान्यता के अनुसार जब किसी के घर कन्या का जन्म होता है तो लोग उसे माँ लक्ष्मी का रुप बोलकर संबोधित करते हैं।बचपन से ही स्त्रियों को देवी के समान माना जाता है। लेकिन वहीं कन्या जब शादी करके अपने पति के घर जाती है तो उसके ससुराल में पैर पड़ते ही लोग उसके गृह प्रवेश को लक्ष्मी के आगमन के समान मानते हैं।

महिलाओं के बारे में कहा जाता है कि यह करूणा और ममता की भावनाओं से परिपूर्ण होती हैं। जिस घर की बहू बेटी को घर में सुखी पूर्वक नहीं रखा जाता है तो उस परिवार की खुशियाँ चली जाती हैं।हमारे पौराणिक वेदों ग्रथों में ऋषि मुनियों के अनुसार कहा गया है कि नारी को आजतक ना कोई समझ पाया है और नही कोई समझ सकता है।

मान्यता अनुसार भी कहा गया है कि एक औरत के किसी पुरुष के जीवन में आने से उसका भाग्य बदल जाता है। एक महिला ही होती है जो कि अपने परिवार को भरपूर प्यार से सजोकर रखती है।जिसकी वजह से हर कोई पुरुष स्त्री को अपने घर की इज्जत मानते हैं।

वैसे तो महिलाएं प्यार की देवी होती है , लेकिन आप यह नहीं जानते होगें कि महिलाओं के कुछ अंग ऐसे होते हैं जो कि पवित्रता का प्रतीक होते हैं।

पौराणिक कथाओं के अनुसार कहा जाता है कि सभी जानवरों के कुछ ऐसे अंग होते है जो कि बहुत ही पवित्र माने जाते हैं। वहीं महिलाओं के लिए भी कहा गया है कि महिला की पवित्रता की कोई भी कल्पना नहीं कर सकता है। वह देवी समान स्वरुप होती है उसके हर अंग पवित्र होते हैं, कभी भी कोई स्त्री अपवित्र नहीं होती है।

Back to top button