पवित्र सावन में कभी न पहनें इस रंग के कपड़े, वरना सब कुछ हो जाएगा तबाह

0
71

 

देवो के देव महादेव (Lord Shiva) का महीना शुरू हो चुका है। सावन (Sawan) का महीना भोले शंकर की पूजा-पाठ के लिए होता है। कहा जाता है कि अगर सावन के महीने (Sawan Mass) में भगवान शिव प्रसन्न हो जाए तो हर मनोकामना को पूरा करते है। इस महीने में शिव भक्त व्रत रखते हैं और औढरदानी भगवान शंकर से मनचाहा वरदान मांगते हैं। पुराणों में भी इस बात को बताया गया है कि सारे महीनों की अपेक्षा सावन के महीने में भगवान शिव की आराधना करने से महादेव ज्यादा प्रसन्न होते हैं। इस महीने में जितना पूजा-पाठ का महत्व होता है, उतना ही महत्व कपड़ों के रंग का भी होता है।

सभी मनोकामनाओं को पूरा करने के लिए इस महीने की कुछ खास बातें होती हैं जिनको जानना बहुत जरूरी होता है। सावन के महीने में कुछ चीजों पर रोक होती है। इस महीने में पहने जाने वाले कपड़ों को लेकर भी कई तरह की मनाही होती है। ज्योतिषी आचार्यो के मुताबिक सावन के महीने में कभी भी कुछ रंगों को नहीं पहनना चाहिए। तो आइये जानते है, कि सावन के पवित्र माह किस किस रंग के कपड़ो को नहीं पहनना चाहिए। जिससे भोले नाथ की कृपा प्राप्त हो सके और पूजा भली भांति संपन्न हो।

सावन का महीना भगवान शिव का पावन महीना कहलाता है। हिंदू धर्म के अनुसार सावन के महीने में पूजा के कई सारे नियम होते है। अगर आप इनमें गलती करते है तो भगवान शिव आपसे बहुत जल्दी नाराज हो जाते हैं। शास्त्रों के मुताबिक लाल रंग को किसी भी पूजा में पहनना खुशियां और सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है वहीं सावन के महीने मे हरे रंग का अरना अलग महत्व होता है। इसलिए इस महीने में सारे रंगों को किनारे करके हरे और लाल रंग को अपनी प्राथमिकता में रखें।

कहते हैं शिव जी को हरे रंग से प्रेम है। अगर आपने शिव जी की पूजा हरे रंग के कपड़े पहनकर की तो आपका बिगड़ा काम भी बन जाएगा। शंकर भगवान आपकी सारी इच्छाओं को पूरा कर देंगे। इस महीने में हरें रंग के कपड़े पहनने के साथ-साथ हरी चूड़ियों का भी बहुत महत्व होता है। शादीशुदा महिलाएं हरे रंग की कांच की चूड़ियां पहनती हैं। इसे शुभ माना जाता है।

सावन के महीने में कभी भी काला, खाकी, और भूरे रंग के कपड़ो को न पहनें। ये कपड़े पहन कर अगर आप पूजा करते हैं तो भगवान शिव नाराज हो जाते है और आपको पूजा का फल नहीं मिलता है। ध्यान रखें कि जब भी पूजा के लिए जाएं तो इन तीन रंगों के कपड़ों को पूरी तरह से नकारें। सावन के महीने में भूलकर भी काले रंग के कपड़े नहीं पहनना चाहिए। इससे भोलेनाथ क्रोधित हो जाते हैं। फिर भोलेनाथ को मनाना बहुत कठिन हो जाता है।

ज्योतिषी आचार्यो के मुताबिक भगवान शिव की पूजा में काले रंग को इसलिए अशुभ माना जाता है क्योंकि भगवान शिव को काला रंग बिल्कुल भी पसंद नहीं है। इस रंग को देखते ही महादेव क्रोधित हो जाते हैं। यदि आप शिव के प्रकोप से बचना चाहते हैं या फिर उनकी कृपा पाना चाहते हैं तो इस बात का विशेष ध्यान रखें कि पूजा करते समय काले कपड़ों को न पहनें।

कहा जाता है कि महादेव भगवान एक योगी थे और उन्हें प्रकृति की सुंदरता के बीच ध्यान में बैठना बहुत ही पसंद था। हरा रंग पहनने से भी महादेव प्रसन्न होते हैं इसलिए महिलाएं सावन के महीने में सिर्फ एक नहीं बल्कि कई कारणों से हरा रंग पहनती हैं। सावन में अच्छी नौकरी प्राप्त करने के लिए आप हरे रंग का वस्त्र पहनकर भोलेनाथ को जल अर्पित करें। इससे आपको जल्द ही अच्छी नौकरी मिलेगी।